Government Services

इंदिरा आवास योजना 2018 – Indira Awas Yojana ki Jaankari

इंदिरा आवास योजना
Written by abhay

रोटी कपडा और मकान आज के समय में सबकी आम जरूरत हैं और अधिकार भी | भारत में ग्रामीण विकास मंत्रालय ग्रामीण विकास की देखभाल करता है और ग्रामीण जरूरतों का ख्याल रखता है।ग्रामीण विकास मंत्रालय के कई कार्यकर्मो में से एक इंदिरा आवास योजना है | इस योजना का उदेशय गरीब ग्रामीण लोगों को घर प्रदान करना है | इसके अंदर वह लोग आते हैं जो लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं |इंदिरा आवास योजना 1985-86 में रूरल लैंडलैस एम्प्लॉयमेंट गारंटी प्रोग्राम का हिस्सा बनकर आया |
इसमें सबको समान्तर तरीके से घर प्रदान करने की बात की गयी है |

इंदिरा आवास योजना

इस स्कीम के तहत जो भी घर होता है या तो वो पत्नी या फिर दोनों पति/पत्नी को प्रदान किया जाता है|
लाभार्थी द्वारा बनाये गए घरों में कॉन्ट्रैक्टर्स का कोई इन्वॉल्वमेंट नहीं होता है | हालांकि ऐसा कोई प्लान नहीं होता पर उसमे एक सेनेटरी लैट्रीन और स्मोकलेस चुल्लाह होना जरूरी है | IAY द्वारा टॉयलेट बनाने के लिए अलग से  9000 रूपए की मदद की जाती है|1985 से इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत 25.2 मिलियन घरों का निर्माण किया जा चूका है | साथ ही साथ आप प्रधानमंत्री आवास योजना राशिप्रधानमंत्री आवास योजना पात्रता सूची की जानकारी भी पा सकते हैं|

Indira awas yojana kya hai

जैसे की हम जानते ही हैं की इंदिरा आवास योजना का उद्देश्य गरीब ग्रामीण लोगों को घर प्रदान कराना है |
अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के सदस्य यानी की एससी / एसटी
अल्पसंख्यक
विधवाओं
वे लोग जो गरीबी रेखा से नीचे हैं
रक्षा कर्मियों के परिवार के सदस्य जो उनके कार्य करते दौरान अपने जीवन को गवां बैठे थे
पूर्व सैनिक अथवा महिलाएं और अर्धसैनिक बलों के सदस्य आदि
इस योजना के पात्र हैं ]

इंदिरा आवास योजना के nic

अगर आप उत्तर प्रदेश से हैं और उत्तर प्रदेश इंदिरा आवास योजना सूची देखने के लिए हमारे | जैसा की हमने पहले भी बताया था की इंदिरा आवास योजना का लाभ को भूतपूर्व सैनिक या युद्ध में मारे गए रक्षा कर्मचारियों की विधवाओं या उनके संबंधियों के लिए उनकी आय संबंधी मानदंड पर विचार किए बिना शर्तों के साथ लागू किया गया है। वित्तीय वर्ष के दौरान इंदिरा आवास योजना के अंर्तगत बनाये जाने वाले मकानों की संख्या का निर्धारण करेंगी तथ इसकी सूचना ग्राम पंचायत को देंगी।

About the author

abhay

Leave a Comment