गौतम बुद्ध का जीवन परिचय

गौतम बुद्ध का जीवन परिचय – भगवान गौतम बुद्ध की जीवनी – Lord Gautam Buddha Biography Life History Story In Hindi

Posted by

Gautam Buddha Ka Jeevan Parichay – Gautam Buddha Jivani – गौतम बुद्धा बायोग्राफी इन हिंदी : भगवान गौतम बुद्ध जिन्हें बौद्ध धर्म का संस्थापक भी कहा जाता है इन्हीं की शिक्षाओं पर बौद्ध धर्म का प्रचलन हुआ था | भगवान गौतम बुद्ध की पूजा नेपाल में की जाती है इसके अलावा भारत में भी कई बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग रहते हैं | साल 2018 में 30 अप्रैल को बौद्ध धर्म के लिए गौतम बुद्ध की जयंती मनाई जाती है इस जयंती में गौतम बुद्ध के उपदेशों को लोगों तक पहुंचाया जाता है व उनके बारे में अधिक जानकारी दी जाती है | अगर आप गौतम बुद्ध के बारे में अन्य प्रकार की जानकारी जानना चाहते हैं तो इसके लिए हम आप को उनके जीवन परिचय, gautam buddha teachings in hindi PDF Download, siddhartha gautama buddha biography in hindi, gautama buddha life history in hindi के बारे में जानकारी देते हैं जिससे आप इस पोस्ट के माध्यम से पढ़ सकते हैं |

Gautam Buddha Birth Year – Gautam Buddha Born In Which Year

भगवान् गौतम बुद्ध जी का जन्म 563 ईसवी पूर्व नेपाल देश के लुंबिनी शहर में हुआ था तथा उनकी मृत्यु 80 वर्ष की उम्र में 483 ईसवी पूर्व हुआ था |

गौतम बुद्ध की पत्नी का नाम

गौतम बुद्ध का विवाह राजकुमारी यशोधरा के साथ सोलह साल की उम्र में हुआ था उसके बाद वह अपने पिता द्वारा ऋतुओं के अनुरूप बनाए गए वैभवशाली और समस्त भोगों से युक्त बनाये गए महल में निवास में रहने लगे जिसके बाद उन्हें राहुल नामक पुत्र की प्राप्ति हुई | उसके बाद उन्होंने वैराग्य धारण कर लिया और सुख-शांति पाने के लिए अपने परिवार से दूर चले गए |

गौतम बुद्ध के गुरु का नाम

भगवान् गौतम बुद्ध ने गुरु विश्वामित्र को अपना गुरु बनाया था उन्होंने उन्ही के पास से वेद व उपनिषदों की शिक्षा ली थी उसके बाद युद्ध व विद्या की शिक्षा भी उन्होंने गुरु विश्वामित्र से ली थी |

भगवान गौतम बुद्ध की जीवनी

Short Biography Of Lord Gautam Buddha In Hindi

गौतम बुद्ध की कहानियाँ, गौतम बुद्ध विचार, गौतम बुद्ध की शिक्षा, गौतम बुद्ध पुस्तकें, बुद्ध अवतार तथा गौतम बुद्ध फोटो : भगवान गौतम बुद्ध का जन्म 563 ईस्वी पूर्व के बीच कपिलवस्तु के पास में लुंबिनी नामक ग्राम में हुआ जो कि इस समय नेपाल में स्थित है जो की नेपाल के तराई क्षेत्र में स्थित है | उनके पिता का नाम शुद्धोधन तथा माता का नाम माया देवी था वह कपिलवस्तु के महाराज व महारानी थी | एक बार की बात है कपिलवस्तु की महारानी महामाया रास्ते में जा रही थी तभी रास्ते में उन्होंने बालक को जन्म दिया | जिसका नाम सिद्धार्थ रखा गया वह राजा और रानी गौतम गोत्र के थे जिसकी वजह से उनका नाम गौतम भी पड़ गया | गौतम बुद्ध क्षत्रिय के रूप में पैदा हुए थे वह राजा शुद्धोधन के पुत्र थे उनकी राजधानी का नाम कपिलवस्तु थी | साथ ही आप रामधारी सिंह दिनकर का जीवन परिचय भी देख सकते हैं|

Gautam Buddha Birth in Hindi

एक कथा के अनुसार रात को सिद्धार्थ की कल्पना की गई थी जिसमें की महारानी माया ने सपना देखा था कि छह सफेद रंगों के साथ एक सफेद हाथी उसके दाहिने तरफ प्रवेश करता था और 10 महीने बाद सिद्धार्थ का जन्म होता है | शाक्य परंपरा के रूप में जब उनकी महरानी माया गर्भवती हो गयी तो उन्होंने गौतमबुद्ध को जन्म देने के कहने के लिए कपिलवस्तु को अपने पिता के राज्य के लिए छोड़ दिया |

Gautam Buddha History in Hindi Language

हालांकि कहा जाता है कि लुंबिनी में एक पेड़ के नीचे एक बगीचा था बुद्ध का जन्म का दिन थेरावा देशों में वेसाक के रुप में मनाया जाता है बुद्ध के जन्मदिन को नेपाल बांग्लादेश और भारत में बुद्ध पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है | क्योंकि ऐसा माना जाता है कि उनका जन्म पूर्णिमा दिवस पर हुआ था विभिन्न स्रोतों का मानना है कि बुद्ध की मां का उनके जन्म के 7 दिन बाद मृत्यु हो गई थी | उन्हें बचपन में सिद्धार्थ नाम दिया गया था जिसका अर्थ होता है वह जो अपना लक्ष्य प्राप्त करता है | जन्मतिथि के दौरान असद यात्री आसिता अपने पर्वत निवास से निकल गए और घोषणा की कि वह बच्चा एक महान राजा या एक महान साधु बन जाएगा | सिद्धार्थ ने असीता के बालों में अपना पैर रखा और असिता ने जन्म चिन्हों की जांच की | शुद्धोधन ने पांचवें दिन नामकरण समारोह आयोजित किया और भविष्य को पढ़ने के लिए 8 ब्राह्मण विद्वानों को आमंत्रित किया सभी ने दोहरी भविष्यवाणी की कि बच्चे या तो एक महान राजा या महान पवित्र व्यक्ति बन जाएगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *