जीत की शायरी

जीत की शायरी – जीत की बधाई शायरी – 2 Lines Haar Jeet Shayari in Hindi

Posted by

बचपन से लेकर बुढ़ापे तक हमें जीत व हार तो लगी रहती है हमारे किसी काम में हमें जीत मिलती है और किसी काम में हार इसीलिए हमारे कुछ मशहूर शायरों द्वारा हर जीत के लिए ऊपर कुछ बेहतरीन शायरियां लिखी जाती है | जिसके लिए जीत की बधाई देने के लिए कुछ बेहतरीन शायरियां आप हमारे माध्यम से जान सकते है जिन्हे आप अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते है|

जीत पर शायरी

अगर आप हार जीत शायरी, हार की जीत शायरी, चुनाव जीत शायरी, जीत और हार शायरी, जीत जायेंगे हम शायरी, जीत के शायरी, जीत पे शायरी, जीत का शायरी, सच्चाई की जीत शायरी, जीत शायरी इन हिंदी, हार और जीत शायरी, जीत की बधाई संदेश, जीत की खुशी शायरी, हार पर शायरी, चुनाव शायरी हिंदी, इलेक्शन शायरी, चुनावी शायरी इन हिंदी, आगे बढ़ने की शायरी के बारे में जानना चाहे तो यहाँ से जान सकते है :

किस्मत तेरी दासी हैं यदि परिश्रम तेरा सच्चा हैं,
नियत भी साथ देगा और जीत भी तेरा पक्का हैं.

मुझे तो खबर भी न थी की कौन-कौन साथ दौड़ रहा है मेरे
पहुंचा मंजिल पर तो पता चला की एक लम्बा कारवां मेरे पीछे था।

एक जमाना था जब मैं तलाशता था रास्ता आसमान तक जाने का
एक आज का दौर है की सारा आसमान मेरा है।

ख्वाब पूरे हो गए हैं मेरे कि आज चैन की नींद सोना चाहता हूँ,
बहुत देर से दूर था जिस आँचल से आज उसी माँ की गोद में सोना चाहता हूँ।

हार जीत शायरी इन हिंदी – जीत हार शायरी

ना पूछो के मंजिल का पता क्या है,
अभी बस सफर है सफर का दीदार होने दो…

रूठ जाये अगर तक़दीर तो मनाकर देखो
फूल मेहनत के हथेली पर उगाकर देखो

माना कि पहुँच गया हूँ सफलता की ऊँचाइयों पर आज मैं,
लेकिन लोगों के दिलों में उतरने का हुनर आज भी रखता हूँ।

रिवाज़ न हो भले ही पढी किताबें पढने का
जिंदगी के सीखे सबक रोज़ याद करने होते है

Jeet Shayari in Hindi

क्या हार में क्या जीत में किंचित नही भयभीत में,
कर्तव्य पथ पर जो भी मिले जीत भी सही और हार भी सही !

कचरे का ढेर दरीचे में रख छोड़ा है मैनें
इन आँधियों का गुरूर कुछ यूँ तोड़ा है मैनें

बहती धारा के साथ बहो किनारा छोड़ दो
रखो यकीं खुद पे दुनियाँ का सहारा छोड़ दो

देखें हवाएँ ले चलें अब कहाँ तक मुझे
मजबूरियों ने चलाया है यहाँ तक मुझे

जीत पर शायरी

जीत के लिए शायरी – Jeet Ke Liye Shayari

हुई शब तो चाँद -सितारों को पहरेदार किया
उतर के पानी में दरिया को खुद ही पार किया

उड़ान भरी तो इतनी दूर निकल आया मैं,
न जाने इस मुकाम का मंजर क्या होगा?

बिना लक्ष्य के जीने वाले इंसानों की जिंदगी कहाँ अमीर होती है,
जब मिल जाती है सफलता तो नाम ही सबसे बड़ी जागीर होती है।

हार जीत हिंदी शायरी

नहीं आसां नहीं है यहाँ सम्भल जाना
ज़िंदगी नहीं है मौसम का बदल जाना

मंज़िल होगी आसमाँ ऐसा यकीं कुछ कम है
अपने नक्शे के मुताबिक़ ये ज़मीं कुछ कम है

दुनिया के सारे शौक पाले नही जाते,
कांच के खिलौने हवा में उछाले नही जाते,
परिश्रम करने से जीत हो जाती है आसान,
क्योंकि हर काम तक़दीर के भरोसे टाले नही जाते.

हार जीत पर शायरी

अगर आप jeet haar shayari, jeet ki khushi shayari, jeet ki shayari in hindi, jeet shayari in urdu, jeet shayari 2 line, shayari- jeet haar, jeet shayari images, attitude jeet shayari, meri jeet shayari, dil jeet shayari, jeet par shayari, jeet aur haar shayari, haar shayari in hindi, jeet shayari hindi, haar jeet 2 line shayari, jeetna hindi shayari, election shayari hindi, winning shayari, shayari on victory तथा haar jeet image के बारे में जानने के लिए यहाँ से जान सकते है :

जिस सफ़र से होकर तू आज मुकाम पर पहुंचा है,
उसी सफ़र में आज कई दीवाने चल निकले हैं,
जानते नहीं नादान इन्हें जरूरत है इक जिद की
नन्हें कदमो से नापने आसमान चल निकले हैं।

सूरज की तपिश और बेमौसम बरसात को हमने हंस कर झेला है,
मुसीबतों से भरे दलदल में हमने अपनी जिंदगी को धंस कर ठेला है,
यूँ ही नहीं कदम चूम रही है सफलता आज इस खुले आसमान तले
ज़माने भर के नामों को पीछे छोड़ा है तब जाकर हमारा नाम फैला है।

किसी की तमन्ना थी तो किसी की उम्मीदें जुड़ी थीं,
मेरी सफलता के लिए मेरी मेहनत बहुत कड़ी थी,
पहुँच कर मुकाम पर जो मुद कर देखा मैंने तो पाया कि
मुझसे आगे निकलने को दुनिया तमाम खड़ी थी।

जीत की बधाई शायरी

Jeet Ka Jashn Shayari – जीत का जश्न शायरी

खोटा सिक्का जो समझते थे मुझे
आज मैं उनका ध्यान तोड़ आया हूँ,
जिंदगी की राहों में सफ़र लम्बा था मेरा
इसलिए क़दमों के निशान छोड़ आया हूँ।

घिर चुका था जब मुसीबतों के बीच
हौसला बढाया तो रुकावटों की ईमारत हिल ही गयी,
बहुत दूर नजर आ रही थी जो इक दिन
कदम बढाया तो आज मंजिल मिल ही गयी।

जो शतरंज की बिसात होती जिंदगी तो
मैं सिर्फ एक मोहरा ही बन कर रह जाता,
ये तो वो खाली किताब निकली जिसने
बादशाह बना दिया मुझको जो मैंने
खुद की किस्मत लिखनी शुरू की।

Shayari Jeet Ki

मिट जाता, बर्बाद हो जाता या बदनाम हो जाता मै,
सफलता की राहों पे गुमनाम हो जाता मैं,
शुक्रगुजार हूँ उस खुदा का जिसने हर कदम साथ दिया
कहाँ पहुँचता वरना इस मुकाम पर, इक मौत आम हो जाता मैं।

मुश्किलें तेरे आत्मविश्वास को आजमाती हैं,
स्वप्न के पर्दे निगाहों से हटाती हैं,
हौसला मत हार गिर कर ऐ मेरे दोस्त,
ठोकरें ही इंसान को चलना सिखाती हैं.

गिरा रही थी जिंदगी मुझे बार-बार अलग-अलग ठोकरों से,
बर्ताव कर रहा हो जैसे कोई मालिक अपने नौकरों से,
हिम्मत और हौसले को मैंने फिर भी अपनी बैसाखियाँ बनायीं
पहुँच गया सफलता की मंजिल पे

2 Lines Haar Jeet Shayari in Hindi

Jeet ki Khushi Shayari Hindi

चमक रहा हूँ जो सूरज का की तरह तो सब हैरान हैं क्यों?
मेरी कामयाबी से सब इतना परेशान हैं क्यों?
हर रात टकराया हूँ मैं इक नई मुसीबत से नई सुबह के लिए
सबको दिखा हुनर मेरा लेकिन
किसी ने न पूछा की ये जख्मों के निशान हैं क्यों?

चमक रहा है सितारा आज ज़माने में मेरे नाम का
मिल गया हैं नतीजा मुझे मेरे काम का,
किसी चीज की जरूरत न रही मुझे
जबसे नशा चढ़ गया है मुझे सफलता के जाम का।

मिली जो मंजिल तो कारवां भी बड़ा लग रहा था,
वरना सफ़र में हर शख्स मुझे ठग रहा था,
यूँ ही नहीं पहुंचा हूँ आज मैं इस मुकाम पर
जब सो रहा था ये ‘जग’ तब मैं ‘जग’ रहा था।

प्यार की जीत शायरी

बीत गया है रास्ता की आज मैं अपने मुकाम पर हूँ,
सारे सफ़र सताती रही जिंदगी
थक चुका हूँ थोडा आज आराम पर हूँ।

मिल गयी है सफलता तो नजरिये बदले हैं
जो थे कल तक दुश्मन आज करीबी निकले हैं,
ना ही बदला हूँ मैं ना ही मेरे अंदाज बदले हैं,
ये तो बस शुरुआत थी अभी तो पड़ाव अगले हैं।

कौन कहता है कि बुने हुए ख्वाब सच्चे नहीं होते,
मंजिलें उन्हीं को नहीं मिलती जिनके इरादे अच्छे नहीं होते,
रूखी-सूखी रोटी और धक्के तो बहुत खाए हैं जिंदगी में लेकिन
आज देख रहा हूँ कि सफलता के फल कभी कच्चे नहीं होते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *