Shayari

प्रेमी प्रेमिका की शायरी – Premi Premika Shayari in Hindi

प्रेमी प्रेमिका की शायरी
Written by admin

प्रेमी व प्रेमिका की जोड़ी इस दुनिया में सबसे रोमांटिक जोड़ी होती है जो की प्यार की निशानी होती है जब प्रेमी प्रेमिका की याद में हो या प्रेमिका प्रेमी की याद में हो तब दोनों एक दूसरे के लिये शायरियां भी पढ़ते है | जिसके लिए हमारे कुछ मोहब्बत के शायरों ने प्रेमी व प्रेमिका के ऊपर कुछ बेहतरीन शायरियां लिखी है जो की बहुत रोमांटिक है अगर आप उन शायरियो के बारे में जानना चाहे तो इसके लिए आप हमारे माध्यम से जानकारी को पढ़े व अपने पार्टनर के साथ शायरियो को शेयर करे |

प्रेमिका की तारीफ शायरी

अगर आप प्रेम शायरी फोटो, प्यार की शायरी हिंदी में, शायरी प्यार की sms, प्रेम sms, शायरी प्यार की 2017, प्रेमिका के लिए कविता के बारे में जानकारी यहाँ से जान सकते है :

“बिन देखे तेरी तस्‍वीर बना सकते हैं
बिन मिले तेरा हाल बना सकते है
हमारे प्‍यार में इतना दम है की
तेरे आसूं अपनी ऑख से गिर सकते हैं ”

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते,
बिन कहे भी जी नहीं सकते,
ऐ खुदा! ऐसी तकदीर बना,
कि वो खुद हम से आकर कहे कि,
हम आपके बिना जी नही सकते.

आप भुलाकर देखो, हम फिर भी याद आएंगे,
आपके चाहने वालों में,
आपको हम ही नज़र आएंगे,
आप पानी पी-पी के थक जाओगे,
पर हम हिचकी बनकर याद आएंगे.

आपकी जुदाई भी हमें प्यार करती हैं …
आपकी याद बहुत बेकरार करती हैं …
जाते जाते कहीं भी मुलाकात हो जाये आप से …
तलाश आपको ये नज़र बार बार करती हैं …

बड़ी ही हसीन शाम थी, वो तेरे साथ की,
अब तक खुशबू नही गई, मेरी कलाई से,
तेरे हाथ की….

प्रेमिका शायरी – प्रेमिका को शायरी

उमर की राह मे रास्ते बदल जाते हैं
वक़्त की आँधी मे इंसान बदल जाते हैं
सोचते हैं आपको इतना याद ना करें
लेकिन आँख बंद करते ही इरादे बदल जाते है…

यूँ पल-पल हमें सताया ना कीजिये,
इस तरह हमारे दिल को तड़पाया न कीजिये,
क्या पता कल हम हों ना हों इस जहाँ में❓
यूँ हमसे आप नजरें चुराया न कीजिये..

सुर्ख आँखो से वो जब हमें देखती है,
हम घबराकर अपनी आँखे झुका लेते है
डर लगता हैं उनसे, आंख मिलाने से
सुना है वो निगाहों से अपना बना लेती है.

हर रोज़ पीता हूँ तेरे छोड़ जाने के ग़म में,
वर्ना पीने का मुझे भी कोई शौंक नहीं,
बहुत याद आते है तेरे साथ बिताए हुये लम्हें,
वर्ना मर मर के जीने का मुझे भी कोई शौंक नहीं|

जब जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है,
मेरी हर एक साँस मे तेरी खुश्बू बस जाती है,
कैसे कहूँ तेरे बिना में ज़िंदा हूँ,
क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुश्बु आती है…

प्रेमी प्रेमिका की शायरी

प्रेमिका को मनाने की शायरी

क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है!
एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है!
लगने लगते है अपने भी पराये!
और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है!

मोहब्बत कब और किससे और कहा हो जाये,
इसका कोई अदांजा ही नहीं होता.
ये घर ही ऐसा हैं , जिसका कोई दरवाजा नहीं होता.

खुलते ही आंख याद आ जाता हैं,
चेहरा आप का.
ये दिन की पहली ख़ुशी तो कमाल की होती है

तुम्हारी ज़िद बेमानी है
दिल ने हार कब मानी है
कर ही लेगा वश में तुम्हें
आदत इसकी पुरानी है.

“इश्क के सहारे जिया नहीं करते,
गम के प्यालों को पिया नहीं करते,
कुछ नवाब दोस्त हैं हमारे,
जिनको परेशान न करो तो वो याद ही किया नहीं करते.”

प्रेमी प्रेमिका शायरी इन हिंदी

बरसात आये तो ज़मीन गीली न हो,
धूप आये तो सरसों पीली न हो,
ए दोस्त तूने यह कैसे सोच लिया कि,
तेरी याद आये और पलकें गीली न हों।

ख्वाबो की दुनिया में हम खोते चले गए,
ना थे मदहोश पर, मदहोश होते चले गए,
ना जाने क्या बात थी उसके चेहरे में
ना चाहते हुए भी उनके होते चले गए…

यु ही साथ कुछ दूर हमारे साथ चलो,
आज दिल की हम कहानी कह देंगे,
जो समझ ना सके आँखों की बात❓
आज वो बात तुम्हे हम जुबानी कह देंगे….

लोग कहते हैं कि इश्क मत करो,
कि हुस्न सर पे सवार हो जाये,
हम कहते हैं कि इश्क इतना करो,
कि पत्थर दिल को भी तुमसे प्यार हो जाये.

एक आरज़ू सी दिल मैं अक्सर छुपाये फिरता हूँ …
प्यार करता हूँ तुझ से , पर कहने से डरता हूँ …
नाराज़ ना हो जाओ कहीं मेरी गुस्ताखी से तुम ….
इसलिए खामोश रह कर भी ,तेरी धड़कन को सुना करता हूँ

Premi Premika Shayari in Hindi

प्रेमी और प्रेमिका की शायरी

किसी को चाहो तो इस अंदाज़ से चाहो,
कि वो तुम्हे मिले या ना मिले,
मगर उसे जब भी प्यार मिले,
तो तुम याद आओ…!!

आँखों को जब किसी की चाहत हो जाती है
उसे देख के ही दिल को राहत हो जाती है
कैसे भूल सकता है कोई किसी को ‘ऐ’ दोस्त
जब किसी को किसी की आदत हो जाती है
मोहोब्बत कुछ इस कदर हो जाती है उसे
के रब से पहले उसकी इबादत हो जाती है

कितने खूबसूरत ​थे वो लम्हे …
जब उसने कहा ❓
मुझे​ ​तुमसे​ ​मोहब्बत​ ​है​ ​और​ ​तुमसे​ ​ही​ ​रहेगी…

“कोई दोस्त कभी पुराना नहीं होता,
कुछ दिन बात न करने से बेगाना नहीं होता,
दोस्ती में दुरी तो आती रहती हैं,
पर दुरी का मतलब भुलाना नहीं होता.”

रात हुई जब शाम के बाद,
आई तेरी याद हर बात के बाद,
खामोश रहकर हमने भी देखा,
आवाज़ आई तेरी हर, सांस के बाद..

प्रेमिका पर शायरी

वो आपका पलके झुका के मुस्कुराना;
वो आपका नजरें झुका के शर्मना;
वैसे आपको पता है या नहीं हमें पता नहीं;
पर इस दिल को मिल गया है उसका नज़राना।

मिटाना भी चाहूँ
तो भी मिटा नही सकता…!!
उसका नाम अपने दिल से…
क्यूंकि मिटाए तो वो जाते हैं
जो गलती से लिखे जाते हैं…!

सोच रही हूँ ✍ ख़त लिखने की
लेकिन क्या पैग़ाम लिखूँ..
तुझ बिन काटी 🌙 रात लिखूँ..❓
या साथ गुज़ारी शाम लिखूँ..❓

ये दुनियाँ के तमाम चेहरे तुम्हें गुमराह कर देंगें,
तुम बस मेरे दिल में रहो,
यहाँ कोई आता जाता नहीं…..

दिल की हर यादो में, मै सवारूँ तुझे,
तू दिखे तो इन आँखो में उतारू तुझे,
तेरे नाम को जुबा पर ऐसे सजाऊ❓
सो जाऊ तो ख्वाबो मे बस पुकारू तुझे..

About the author

admin

Leave a Comment