मोहब्बत शायरी 2 लाइन

मोहब्बत शायरी 2 लाइन – मोहब्बत भरी शायरी – Mohabbat Shayari in Hindi & Urdu SMS

Posted by

मोहब्बत करना आसान होता है लेकिन उसे निभाना उतना ही कठिन होता है कई लोग तो मोहब्बत की इस परीक्षा में फेल हो जाते है क्योकि मोहब्बत प्यार व इश्क़ मांगती है जिसकी आपकी पार्टनर को सबसे ज्यादा जरुरत आपसे होती है | इसीलिए अपने पार्टनर को इम्प्रेस करने के लिए आप उनके सामने मोहब्बत भरी कुछ बेहतरीन शायरियां सुना सकते है जिससे की वह आपकी तरफ अधिक जयादा आकर्षित होगी | इन मोहब्बत की शायरियो के बारे में जानने के लिए आप हमारे द्वारा बताई गयी इस जानकारी को पढ़ सकते है तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते है |

Mohabbat Bhari Shayari Hindi Me

अगर आप मोहब्बत भरी शायरी वीडियो में, मोहब्बत से भरी शायरी, मोहब्बत शायरी इमेज, मोहब्बत दर्द शायरी रेख़्ता, मोहब्बत शायरी विथ पिक्चर, मोहब्बत शायरी स्टेटस, अधूरी मोहब्बत शायरी, बेपनाह मोहब्बत शायरी, सच्ची मोहब्बत शायरी, बेइंतहा मोहब्बत शायरी, खामोश मोहब्बत शायरी, मोहब्बत उर्दू शायरी, झूटी मोहब्बत शायरी, मोहब्बत का एहसास शायरी, मोहब्बत पे शायरी, नफरत मोहब्बत शायरी के बारे में जानने के लिए यहाँ से जान सकते है :

‘सहर’ अब होगा मेरा ज़िक्र भी रौशन-दिमाग़ों में
मोहब्बत नाम की इक रस्म-ए-बेजा छोड़ दी मैं ने

हम से क्या हो सका मोहब्बत में
ख़ैर तुम ने तो बेवफ़ाई की

वो चाँदनी का बदन ख़ुशबुओं का साया है
बहुत अज़ीज़ हमें है मगर पराया है

सीने से लिपटो या गला काटो
हम तुम्हारे हैं दिल तुम्हारा है

वो एक ही चेहरा तो नहीं सारे जहाँ में
जो दूर है वो दिल से उतर क्यूँ नहीं जाता

सिर्फ़ उस के होंट काग़ज़ पर बना देता हूँ मैं
ख़ुद बना लेती है होंटों पर हँसी अपनी जगह

सुबूत-ए-इश्क़ की ये भी तो एक सूरत है
कि जिस से प्यार करें उस पे तोहमतें भी धरें

इश्क मोहब्बत की शायरी

वो चेहरा किताबी रहा सामने
बड़ी ख़ूबसूरत पढ़ाई हुई

वो शख़्स जिस को दिल ओ जाँ से बढ़ के चाहा था
बिछड़ गया तो ब-ज़ाहिर कोई मलाल नहीं

हो गया जिस दिन से अपने दिल पर उस को इख़्तियार
इख़्तियार अपना गया बे-इख़्तियारी रह गई

हम तो समझे थे कि हम भूल गए हैं उन को
क्या हुआ आज ये किस बात पे रोना आया

सुख़न के चाक में पिन्हाँ तुम्हारी चाहत है
वगरना कूज़ा-गरी की किसे ज़रूरत है

सच कहते हैं कि नाम मोहब्बत का है बड़ा
उल्फ़त जता के दोस्त को दुश्मन बना लिया

सीने में बे-क़रार हैं मुर्दा मोहब्बतें
मुमकिन है ये चराग़ कभी ख़ुद ही जल पड़े

Pyar Mohabbat Bhari Shayari

वो कहीं भी गया लौटा तो मिरे पास आया
बस यही बात है अच्छी मिरे हरजाई की

सूरज सितारे चाँद मिरे सात में रहे
जब तक तुम्हारे हात मिरे हात में रहे

हमें तो उन की मोहब्बत है कोई कुछ समझे
हमारे साथ मोहब्बत उन्हें नहीं तो नहीं

होती नहीं है यूँही अदा ये नमाज़-ए-इश्क़
याँ शर्त है कि अपने लहू से वज़ू करो

हमारे इश्क़ में रुस्वा हुए तुम
मगर हम तो तमाशा हो गए हैं

वो सितम न ढाए तो क्या करे उसे क्या ख़बर कि वफ़ा है क्या?
तू उसी को प्यार करे है क्यूँ ये ‘कलीम’ तुझ को हुआ है क्या?

हो मोहब्बत की ख़बर कुछ तो ख़बर फिर क्यूँ हो
ये भी इक बे-ख़बरी है कि ख़बर रखते हैं

मोहब्बत भरी शायरी

मोहब्बत वाली शायरी

अगर आप yaad e mohabbat shayari in hindi with image, husn e mohabbat shayari in urdu sms, paigham e mohabbat shayari in urdu images, mohabbat hai shayari 140 words, aye mohabbat shayari, talash e mohabbat shayari, mohabbat shayari in urdu images, mohabbat shayari in hindi with image के लिए जानने के लिए इस जानकारी को पढ़ सकते है :

सितम-नवाज़ी-ए-पैहम है इश्क़ की फ़ितरत
फ़ुज़ूल हुस्न पे तोहमत लगाई जाती है

सीने में राज़-ए-इश्क़ छुपाया न जाएगा
ये आग वो है जिस को दबाया न जाएगा

सब्र बिन और कुछ न लो हमराह
कूचा-ए-इश्क़ तंग है यारो

सुना है ख़्वाब मुकम्मल कभी नहीं होते
सुना है इश्क़ ख़ता है सो कर के देखते हैं

रोज़ मिलने पे भी लगता था कि जुग बीत गए
इश्क़ में वक़्त का एहसास नहीं रहता है

वो चाँदनी का बदन ख़ुशबुओं का साया है
बहुत अज़ीज़ हमें है मगर पराया है

वो तो ग़ज़ल सुना के अकेला खड़ा रहा
सब अपने अपने चाहने वालों में खो गए

Mohabbat Bhari Shayari with Images

हुस्न को शर्मसार करना ही
इश्क़ का इंतिक़ाम होता है

हम ने अव्वल से पढ़ी है ये किताब आख़िर तक
हम से पूछे कोई होती है मोहब्बत कैसी

होश वालों को ख़बर क्या बे-ख़ुदी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजे फिर समझिए ज़िंदगी क्या चीज़ है

सुना रहा हूँ उन्हें झूट-मूट इक क़िस्सा
कि एक शख़्स मोहब्बत में कामयाब रहा

वफ़ा इख़्लास क़ुर्बानी मोहब्बत
अब इन लफ़्ज़ों का पीछा क्यूँ करें हम

वैसे तो तुम्हीं ने मुझे बर्बाद किया है
इल्ज़ाम किसी और के सर जाए तो अच्छा

शायद इसी का नाम मोहब्बत है ‘शेफ़्ता’
इक आग सी है सीने के अंदर लगी हुई

Mohabbat Bhari Shayari Hindi Me

मोहब्बत क्या है शायरी

अगर आप hd wallpaper, mohabbat ki shayari, shayari mohabbat ka, dard e mohabbat shayari in hindi, iqrar e mohabbat shayari, dastan e mohabbat shayari, ishq o mohabbat shayari, ishq e mohabbat shayari, mohabbat e shayari, 4 line mohabbat shayari, urdu shayari mohabbat 2016, urdu shayari mohabbat 4 line के लिए जानने के लिए इस जानकारी को पढ़ सकते है :

शम-ए-शब-ताब एक रात जली
जलने वाले तमाम उम्र जले

हम हैं उन से वो ग़ैर से मायूस
क्या मोहब्बत किसी को रास नहीं

हँस के फ़रमाते हैं वो देख के हालत मेरी
क्यूँ तुम आसान समझते थे मोहब्बत मेरी

वो तो ख़ुश-बू है हवाओं में बिखर जाएगा
मसअला फूल का है फूल किधर जाएगा

विसाल-ए-यार से दूना हुआ इश्क़
मरज़ बढ़ता गया जूँ जूँ दवा की

वफ़ा परछाईं की अंधी परस्तिश
मोहब्बत नाम है महरूमियों का

सात संदूक़ों में भर कर दफ़्न कर दो नफ़रतें
आज इंसाँ को मोहब्बत की ज़रूरत है बहुत

Izhar e Mohabbat Shayari 2 Lines

सर दीजे राह-ए-इश्क़ में पर मुँह न मोड़िए
पत्थर की सी लकीर है ये कोह-कन की बात

हिज्र को हौसला और वस्ल को फ़ुर्सत दरकार
इक मोहब्बत के लिए एक जवानी कम है

हम बहुत दूर निकल आए हैं चलते चलते
अब ठहर जाएँ कहीं शाम के ढलते ढलते

हाँ कुछ भी तो देरीना मोहब्बत का भरम रख
दिल से न आ दुनिया को दिखाने के लिए आ

वही कारवाँ वही रास्ते वही ज़िंदगी वही मरहले
मगर अपने अपने मक़ाम पर कभी तुम नहीं कभी हम नहीं

सारी दुनिया के ग़म हमारे हैं
और सितम ये कि हम तुम्हारे हैं

हम को किस के ग़म ने मारा ये कहानी फिर सही
किस ने तोड़ा दिल हमारा ये कहानी फिर सही

मोहब्बत पर शायरी

वफ़ा तुझ से ऐ बेवफ़ा चाहता हूँ
मिरी सादगी देख क्या चाहता हूँ

‘शकील’ इस दर्जा मायूसी शुरू-ए-इश्क़ में कैसी
अभी तो और होना है ख़राब आहिस्ता आहिस्ता

हैं लाज़िम-ओ-मलज़ूम बहम हुस्न ओ मोहब्बत
हम होते न तालिब जो वो मतलूब न होता

हुई न आम जहाँ में कभी हुकूमत-ए-इश्क़
सबब ये है कि मोहब्बत ज़माना-साज़ नहीं

हम तिरे शौक़ में यूँ ख़ुद को गँवा बैठे हैं
जैसे बच्चे किसी त्यौहार में गुम हो जाएँ

हाए रे मजबूरियाँ महरूमियाँ नाकामियाँ
इश्क़ आख़िर इश्क़ है तुम क्या करो हम क्या करें

वफ़ा तुम से करेंगे दुख सहेंगे नाज़ उठाएँगे
जिसे आता है दिल देना उसे हर काम आता है

Mohabbat Shayari in Hindi & Urdu SMS

Mohabbat Shayari in Urdu Facebook

अगर आप मोहब्बत के ऊपर शायरियां जानना चाहे तो अन्य भाषाओ जैसे Hindi, Kannada, Malayalam, Marathi, Telugu, Urdu, Tamil, Gujarati, Punjabi, Nepali, English Language Font 120 Words, 140 Character के 3D HD Image, Wallpapers, Photos, Pictures, Pics Free Download के बारे में जानना चाहे तो यहाँ से जान सकते है :

सर झुकाओगे तो पत्थर देवता हो जाएगा
इतना मत चाहो उसे वो बेवफ़ा हो जाएगा

हमें भी नींद आ जाएगी हम भी सो ही जाएँगे
अभी कुछ बे-क़रारी है सितारो तुम तो सो जाओ

साँस लेने में दर्द होता है
अब हवा ज़िंदगी की रास नहीं

हम जुर्म-ए-मोहब्बत की सज़ा पाएँगे तन्हा
जो तुझ से हुई हो वो ख़ता साथ लिए जा

शाम ढले ये सोच के बैठे हम अपनी तस्वीर के पास
सारी ग़ज़लें बैठी होंगी अपने अपने मीर के पास

हर आन एक ताज़ा शिकायत है आप से
अल्लाह मुझ को कितनी मोहब्बत है आप से

हम भूल सके हैं न तुझे भूल सकेंगे
तू याद रहेगा हमें हाँ याद रहेगा

मोहब्बत की गजल

हम जानते तो इश्क़ न करते किसू के साथ
ले जाते दिल को ख़ाक में इस आरज़ू के साथ

हाँ कभी ख़्वाब-ए-इश्क़ देखा था
अब तक आँखों से ख़ूँ टपकता है

‘हफ़ीज़’ अपनी बोली मोहब्बत की बोली
न उर्दू न हिन्दी न हिन्दोस्तानी

सौ चाँद भी चमकेंगे तो क्या बात बनेगी
तुम आए तो इस रात की औक़ात बनेगी

रोने लगता हूँ मोहब्बत में तो कहता है कोई
क्या तिरे अश्कों से ये जंगल हरा हो जाएगा

रात थी जब तुम्हारा शहर आया
फिर भी खिड़की तो मैं ने खौल ही ली

रहने दे अपनी बंदगी ज़ाहिद
बे-मोहब्बत ख़ुदा नहीं मिलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *