Quotes

Adi Shankaracharya Quotes in Hindi – आदि गुरु शंकराचार्य के विचार

Adi Shankaracharya Quotes in Hindi
Written by admin

गुरु शंकराचार्य का जन्म 788 ईंसवी में कलाड़ी, चेर साम्राज्य जो की वर्तमान में भारत देश के केरल राज्य में है तथा इनकी मृत्यु 820 ई॰ में केदारनाथ, पाल साम्राज्य में हुई थी जो की वर्तमान में उत्तराखंड, भारत में है | आदि गुरु शंकराचार्य जो को शिवावतार, आदिगुरु, श्रीमज्जगदगुरु के सम्मान से सम्मानित किया जा चूका है | इसीलिए हम आपको शंकराचार्य जी द्वारा बताये गए कुछ प्रेरणादायक विचारो के बारे में बताते है जो की आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है |

Shankaracharya Famous Quotes

अगर आप jagadguru adi shankaracharya quotes, in telugu, in sanskrit, in malayalam, in english, in kannada, in tamil on education and sayings pdf जान सकते है :

आत्मसंयम क्या है ? आंखो को दुनिया की चीज़ों की ओर आकर्षित न होने देना और बाहरी तत्वों को खुद से दूर रखना

अज्ञानता के कारण आत्मा सीमित लगती है लेकिन जब अज्ञान का अंधेरा मिट जाता है तब आत्मा के वास्तविक स्वरुप का ज्ञान हो जाता है. जैसे बादलों के हट जाने पर सूर्य दिखाई देने लगता है

Shankaracharya Philosophy Quotes

जब मन में सत्य जानने की जिज्ञासा पैदा हो जाती है तब दुनिया की बाहरी चीज़े अर्थहीन लगती हैं

सत्य की कोई भाषा नहीं है. भाषा तो सिर्फ मनुष्य द्वारा बनाई गई है लेकिन सत्य मनुष्य का निर्माण नहीं, आविष्कार है. सत्य को बनाना या प्रमाणित नहीं करना पड़ता |

आदि गुरु शंकराचार्य के विचार

Quotes From Shankaracharya

मंदिर में वही पहुंचता है जो धन्यवाद देने जाता हैं, धन्यवाद मांगने नहीं

मोह से भरा हुआ इंसान एक सपने कि तरह हैं, यह तब तक ही सच लगता है जब तक वह अज्ञान की नींद में सो रहे होते है. जब उनकी नींद खुलती है तो इसकी कोई सत्ता नही रह जाती है

Adi Shankaracharya Sanskrit Quotes

हमें आनंद तभी मिलता है जब हम आनंद कि तलाश नही कर रहे होते है

तीर्थ करने के लिए किसी जगह जाने की जरूरत नहीं है. सबसे बड़ा और अच्छा तीर्थ आपका अपना मन है जिसे विशिष्ट रूप से शुद्ध किया गया हो

Shankaracharya Famous Quotes

Quotes by Shankaracharya

हर व्यक्ति को यह ज्ञान होना चाहिए कि आत्मा एक राज़ा के समान होती है जो शरीर, इन्द्रियों, मन, बुद्धि से बिल्कुल अलग होती है. आत्मा इन सबका साक्षी स्वरुप है

यह परम सत्य है की लोग आपको उसी समय तक याद करते है जब तक आपकी सांसें चलती हैं. इन सांसों के रुकते ही आपके क़रीबी रिश्तेदार, दोस्त और यहां तक की पत्नी भी दूर चली जाती है

Quotes of Shankaracharya

अगर आप adi shankaracharya quotes in sanskrit, adi shankaracharya quotes pdf, powerful quotes from sankara, adi shankaracharya teachings, astitva quotes in hindi, adi shankaracharya quotes in telugu, adi guru shankaracharya born place तथा irshya quotes in hindi के बारे में यहाँ से जान सकते है :

सत्य की परिभाषा क्या है ? सत्य की बस इतनी ही परिभाषा है की जो सदा था, जो सदा है और जो सदा रहेगा

उस समय धर्म की किताबे पढ़ने का कोई मतलब नहीं जब तक आप सच का पता न लगा पाए, इसी तरह से अगर आप सच जानते है तो धर्मग्रंथ पढ़ने कि कोई जरूरत नहीं हैं

जिस तरह किसी दीपक को चमकने के लिए दूसरे दीपक की ज़रुरत नहीं होती है ठीक उसी तरह आत्मा को जो खुद ज्ञान का स्वरूप है उसे और क़िसी ज्ञान कि आवश्यकता नही होती है

About the author

admin

Leave a Comment