New Year Speech in Hindi

न्यू ईयर स्पीच 2019 – New Year Speech in Hindi & English Pdf Download

Posted by

नया साल दुनिया में सबसे अधिक मनाया जाने वाले दिनों में से एक है। प्रत्येक संस्कृति इस छुट्टी को अपने अनूठे तरीके से मनाती है। इस दिन दुनिया की सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा को सजाया जाता है जो की बहुत ही सुन्दर नज़ारा होता है| इस दिन पर नए साल के मगलमय गुजरने की ख़ुशी में और आने वाले साल की अच्छी कामना के लिए संकल्प लिया जाता है| इस दिन सभी देशो में सजावट करि जाती है और आतिशबाजिया करि जाती है| इस दिन को अलग-अलग रीति-रिवाजों और परंपराओं से आकार दिया जाता है।

New year speech for students

नव वर्ष भारत में ग्रेगोरी कैलेण्डर के अनुसार 1 जनवरी को माना जाता है। यह दिन विश्व में हर किसी व्यक्ति के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण अवसर से भरा होता है। भारत के साथ-साथ विश्व के सभी देश नए साल के शुरुवात पर जश्न मनाते हैं और अपने प्रियजनों के साथ मिल कर इस दिन का मज़ा उठाते हैं।
लोग इस दिन गाना गाते हैं, नाचते हैं, तरह-तरह के खेल खेलते हैं, पार्टियों में जाते हैं, फ़िल्में देखने जाते हैं। शहरों की बात तो छोड़ें गाँव में भी लोग पिकनिक मनाने जाते हैं। 31 दिसम्बर की रात के 12 बजे, नए साल से एक दिन पहले लोग जश्न मनाते हैं खूब सारे पटाखे भी फोड़ते हैं।
नए साल के प्रथम दिन लोग एक दुसरे को नव वर्ष की शुभकामनाएं देते हैं और कुछ लोग ग्रीटिंग कार्ट देते हैं, गिफ्ट देते हैं और साथ मिल कर पार्क में घूमने भी जाते हैं। इस दिन टेलीविज़न पर मीडिया चैनल वाले भी लोगों के द्वारा आयोजित तरह-तरह के प्रोग्रामों को टीवी पर टेलीकास्ट करते हैं। इस दिन हर कोई व्यक्ति जीवन में एक नई और अच्छी शुरुवात करने की सोचते हैं।
बड़े-बड़े शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, बैंगलोर और चेन्नई में बड़े लाइव कॉन्सर्ट किये जाते हैं जिनमें बॉलीवुड के सितारे और मशहूर लोग एकत्र होते हैं और कार्यक्रम में भाग लेते हैं। हजारों की तागाद में लोग उनके इन समारोह को देखने के लिए आते हैं। कुछ लोग अपने परिवार, मित्रों के साथ घर में मिलकर पार्टी मनाते हैं तो कुछ लोग बाहर घूमने जाते हैं।
यह सब समारोह बस इसलिए होते हैं ताकि हम बीते हुए साल को हँसते-हँसते विदा कर सकें और हँसते-हँसते ढेर सारी खुशियों, उमंगो और नयी आशाओं के साथ नए वर्ष का स्वागत कर सकें।
भारत में ग्रेगोरियन कैलंडर के 1 जनवरी को सभी सरकारी दफ्तर, व्यापार खुले रहते हैं और सभी परिवहन की सुविधा उपलब्ध होती है। ऐसे समय में ज्यादातर मेट्रो शहर में सुरक्षा के पैमानों को बढ़ा दिया जाता है क्योंकि ऐसे समय में ज्यादा भीड़ के कारण बहुत सारी दुर्घटनाएं होने की सम्भावना होती है। नए वर्ष के आगमन के दिनों में गोवा जैसे स्थानों में विश्व भर से पर्यटक आते हैं ऐसे में सुरक्षा की जरूरत बहुत ज्यादा होती है।

Speech in school

यूं तो पूरे विश्व में नया साल अलग-अलग दिन मनाया जाता है, और भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में भी नए साल की शुरूआत अलग-अलग समय होती है। लेकिन अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 1 जनवरी से नए साल की शुरूआत मानी जाती है। चूंकि 31 दिसंबर को एक वर्ष का अंत होने के बाद 1 जनवरी से नए अंग्रेजी कैलेंडर वर्ष की शुरूआत होती है। इसलिए इस दिन को पूरी दुनिया में नया साल शुरू होने के उपलक्ष्य में पर्व की तरह मनाया जाता है।
चूंकि साल नया है, इसलिए नई उम्मीदें, नए सपने, नए लक्ष्य, नए आईडियाज के साथ इसका स्वागत किया जाता है। नया साल मनाने के पीछे मान्यता है कि साल का पहला दिन अगर उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाए, तो साल भर इसी उत्साह और खुशियों के साथ ही बीतेगा।
हालांकि हिन्दू पंचांग के अनुसार के मुताबिक नया साल 1 जनवरी से शुरू नहीं होता। हिन्दू नववर्ष का आगाज गुड़ी पड़वा से होता है। लेकिन 1 जनवरी को नया साल मनाना सभी धर्मों में एकता कायम करने में भी महत्वपूर्ण योगदान देता है, क्यों इसे सभी मिलकर मनाते हैं। 31 दिसंबर की रात से ही कई स्थानों पर अलग-अलग समूहों में इकट्ठा होकर लोग नए साल का जश्न मनाना शुरू कर देते हैं और रात 12 बजते ही सभी एक दूसरे को नए साल की शुभकामनाएं देते हैं। 
नया साल एक नई शुरूआत को दर्शाता है और हमेशा आगे बढ़ने की सीख देता है। पुराने साल में हमने जो भी किया, सीखा, सफल या असफल हुए उससे सीख लेकर, एक नई उम्मीद के साथ आगे बढ़ना चाहिए। जिस प्रकार हम पुराने साल के समाप्त होने पर दुखी नहीं होते बल्‍कि नए साल का स्वागत बड़े उत्साह और खुशी के साथ करते हैं, उसी तरह जीवन में भी बीते हुए समय को लेकर हमें दुखी नहीं होना चाहिए। जो बीत गया उसके बारे में सोचने की अपेक्षा आने वाले अवसरों का स्वागत करें और उनके जरिए जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश करें। 
नए साल की खुशी में कई स्थानों पर पार्टी आयोजित की जाती है जिसमें नाच-गाना और स्वादिष्ट व्यंजनों के साथ-साथ मजेदार खेलों के जरिए मनोरंजन किया जाता है। कुछ लोग धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन कर ईश्वर को याद कर नए साल की शूरूआत करते हैं।

Speech sample

New year speech for students

नव वर्ष यानी की नया साल| भारत में नया साल ग्रिगोरियन कैलेंडर के अनुसार 1 जनुअरी को मनाया जाता है| भारत में तो क्या नया साल पुरे विश्व में बहुत हर्षो-उल्लास के साथ मनाया जता है| सब के लिए ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है| नया साल किसी बड़े उत्सव या त्यौहार से कम नहीं है| नया साल एक जश्न से भरा दिन होता है जो की अपने साथ नयी नयी आशाएं,नयी उमंगें, नयी चाहतें और नयी नयी खुशियाँ ले कर आता है|
पुरे विश्व में नए साल को अलग अलग दिनों में मनाया जाता है| और सब के मनाने के तरीके भी अलग अलग होते हैं| यहाँ तक की भारत के विभिन्न हिस्सों में भी नए वर्ष को अलग अलग तिथियों में मनाया जाता है| ये तिथियाँ मार्च और अप्रैल के बिच में पड़ता है| हिन्दुओं का नया साल या भारतीय नव वर्ष तो चीनी कैलेंडर के अनुसार चैत्र नव रात्री के प्रथम दिन यानी की गुडी पडवा को होता है| पर आन्ग्रेगी कैलेंडर के अनुसार नया साल 1 जनुअरी को ही मनाया जता है|
नया साल का इंतज़ार लोगों को बहुत बेसब्री से रहता है| चाहे वो बच्चे हों या बड़े नयी साल की आने की चाहत सब को होती है|सब कोई अपने अपने तरीके से इस दिन को पुरे मौज मस्ती के साथ हसी ख़ुशी से मनाते हैं| 31st दिसम्बर की रात हर किसी की नज़र घडी पर टिकी रहती है|जैसे ही घडी में 12 बजता है वैसे ही नए साल की स्वागत में आतिशबाजी शुरू हो जाती है|लोग अपने दोस्तों,रिश्तेदारों और पड़ोसियों को नए साल की शुभकामनाएं देते हैं|
नए साल के अवसर पर लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ग्रीटिंग्स और गिफ्ट्स भी देते हैं|और आजकल तो फेसबुक और व्हात्सप्प के जरिये भी लोग अपने प्रियजनों को नए साल की बधाई देते हैं| इस दिन को मनाने का सबका तरीका अलग अलग होता है|कोई अपने परिवार वालों के साथ घर पे ही रह कर एक साथ वक़्त बिताता है और स्वादिस्ट भोजन का आनंद उठता है तो कोई अपने दोस्तों के साथ बहार पिकनिक मनाने जाता है|
कोई अपने रिश्तेदारों के साथ कहीं घूमने जाने का प्रोग्राम बनाता है तो कोई मूवी देखने जाने का प्रोग्राम रखता है|बड़े बड़े सेलिब्रिटीज की बात करें तो,वे भी इस दिन जम के मस्ती करते हैं|कई मशहूर लोग तो नए साल के अवसर पर विदेश घूमने भी जाते हैं| ये पूरा दिन सब के लिए एक ख़ास दिन होता है|
और इसी तरह सब कोई अपने बीते हुए साल को अलविदा करते हैं|बीते हुए साल के सभी दुःख दर्द को भूल कर नए साल के साथ अपनी जिंदगी की एक नयी शुरुआत करते हैं| बीते हुए साल में किये गए ग़लतियों से सिख ले कर अपने आने वाले साल को सफल और खुश हाल बनाते हैं|और सब की यही कामना होता है की उनका ये नया साल उनके जीवन में ढेर सारी ख़ुशियाँ ले कर आये|

न्यू ईयर स्पीच इन हिंदी

भारतवर्ष ने विश्व को काल गणना का अद्वितीय सिद्धांत प्रदान किया है । सृष्टि की संरचना के साथ ही ब्रह्माजी ने काल चक्र का भी निर्धारण कर दिया । ग्रहों और उपग्रहों की गति का निर्धारण कर दिया ।
चार युगों की परिकल्पना, वर्ष मासों और विभिन्न तिथियों का निर्धारण काल गणना का ही प्रतिफल है । यह काल कल्पना वैज्ञानिक सत्यों पर आधारित है । मनुष्य ने काल पर अपनी अमिट छाप छोड़ने के उद्देश्य से कालचक्र को नियन्त्रित करने का भी प्रयास किया । उसने विक्रम संवत्, शक-संवत्, हिजरी सन्, ईसवी सन आदि की परिकल्पना की ।
जैन और बौद्ध मतावलंबियों ने अपने-अपने ढंग से काल गणना के सिद्धान्त बनाये । हमारे देश में नव संवत्सर का प्रारम्भ विक्रम संवत् के आधार पर चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से स्वीकार किया जाता है और पाश्चात्य दृष्टि से पहली जनवरी को नव वर्ष का शुभारम्भ होता है । अत: हमें दोनों ही दृष्टि से इस विषय पर विचार करना होगा ।
भारतीय मतानुसार महाराज विक्रमादित्य ने विक्रम संवत का प्रारम्भ किया था । इसकी गणना चन्दन के आधार पर की जाती है । इसी दिन से नवरात्र का प्रारम्भ होता है । इस दिन मंदिरों और घरों में घट स्थापित किए जाते हैं । जी बोए जाते हैं और नौ दिन पश्चात् पवित्र नदियों में प्रवाहित कर दिए जाते हैं ।
गृहस्थ लोग इन दिनों मांगलिक कार्यों का आयोजन करते हैं । गृह-प्रवेश, लगन-सगाई और विवाह आदि के लिए यह समय सर्वोत्तम समझा जाता है । अनेक आस्तिक लोग रामायण-पाठ का आयोजन करते हैं । व्यापारी लोग नये बही खाते प्रारम्भ करते हैं । नई दुकानों और व्यापारिक संस्थानों की स्थापना-उद्‌घाटन करते हैं ।
कृषकों के लिए रबी की फसल की कटाई का काल प्रारम्भ होता है । नव संवत्सर से ही ग्रीष्म ऋतु का प्रारम्भ माना जाता है । पाश्चात्य मतानुसार 31 दिसम्बर को वर्षात की घोषणा के साथ एक जनवरी से नव वर्ष मनाया जाता है ।
आजकल विश्व के अधिकांश देश में एक जनवरी को ही नव वर्ष मनाया जाता है । एक सप्ताह पूर्व क्रिसमस के दिन से ही नव वर्ष के बधाई पत्र भेजे जाते हैं । दीपावली की भांति ही नव वर्ष पर ही अब मिठाइयां देने का प्रचलन बढ़ रहा है । व्यापारिक कम्पनियां नये-नये कलैंडर छपवाती हैं और प्रचारार्थ बांटती है ।
दूरदर्शन से 31 दिसम्बर की रात को अनेक प्रकार के रंगारंग कार्यक्रमों का प्रसारण होता है । सप्ताह भर पहले ही होटलों और रेस्तराँओं में अग्रिम बुकिंग हो जाती है । बड़े-बड़े नगरों में पुलिस को इस दिन व्यापक बन्दोबस्त करना पड़ता है । जैसे ही रात्रि के बारह बजते हैं, नववर्ष की उल्लासमयी घोषणाएं प्रारम्भ हो जाती हैं । युवक-युवतियों के समूह नाचते-गाते, मौज-मस्ती मनाते देखे जाते हैं ।
कुछ लोग मदिरापान करके अभद्र प्रदर्शन करते हुए भी पाये जाते हैं । पुलिस ऐसे लोगों को चेतावनी देकर छोड़ देती है । अश्लील हरकतें करने वालों के चालान भी कर दिए जाते हैं । हमें नव वर्ष का स्वागत भारतीय अथवा अभारतीय किसी भी दृष्टि से करें, हमारे कार्यक्रम शालीन एवं संगत तथा राष्ट्र को जोड़ने वाले होने चाहिए ।

Happy new year speech

New Year, my favorite holiday, is one of the most celebrated days in the world. The day is shaped by different customs and traditions. Each culture celebrates this holiday in its own unique way. The city Ufa, which is located in Russia near the Ural Mountains, is the place of my birth. This is a place where all my childhood memories came from. The city has its own way to celebrate New Year. The people start to prepare for the holiday at least one month in an advance. The preparation begins by buying presents, decorating houses, and making new costumes. Obviously the holiday would not be complete without a symbol of New Year which transcended from generation to generation, the New Year Tree, the unique tree having million small needles and staying green throughout the year.
The New Year Tree, which is one of the exciting things for children and adults, is the object that you can see in every house during the holiday. The whole family takes participation in decorating a tree, with toys, candies and different New Years lights. Children consider a tree to be mysteries, because Russian Santa Clouse hides the presents under this tree. I love this eve.
The whole world solemnizes New Year with great enthusiasm and energy. This day has a special contingency for people. People concerned to various walks of life welcome New Year in their own hearty ways. There are few things common in all the traditions when it comes to New Year celebration such as the market gets jam-packed with people purchasing gifts and clothes and various other articles of decoration. Most of the countries coax New Year on 1st of January and people relish this day by singing and dancing. Kids take pleasure in celebrating this day by getting pretty gifts and dresses. It is a day which expresses joy and happiness all around

Speech to employees

ऊपर हमने आपको new year speech in malayalam, in kannada, in tamil, in telugu, in marathi, in gujarati, Happy New Year Poems, happy new year speech in kannada, in office, greeting speech, नव वर्ष पर निबंध 2019, न्यू ईयर स्पीच इन हिंदी, 2018, Happy New Year Resolutions, आदि की जानकारी किसी भी भाषा जैसे Hindi, Urdu, उर्दू, English, sanskrit, Tamil, Telugu, Marathi, Punjabi, Gujarati, Malayalam, Nepali, Kannada के Language Font , 100 words, 150 words, 200 words, 400 words में साल 2007, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 का full collection whatsapp, facebook (fb) व instagram पर share कर सकते हैं|

It is a special day for the people as this day is the beginning of the new year and they welcome the upcoming year in their way. People start the preparations for the new year celebration many days earlier. People buy new clothes, gifts and many new things from the market. Shops are full of the crowd on these days. On the midnight of 31st December and on 1st January there is a celebration of New Year in India and all over the world.
After the Christmas celebration people wait for the 31st night, that is the day when we recall all the good and bad memories of whole Year and say goodbye to the going year and welcoming the new year. People celebrate this day with music and dance. Children’s are very happy about this as they get lots of gifts and good food to enjoy the new year party.
Communities
Though different communities celebrate their new year on different days according to their calendar, then to everyone celebrates the new year on 1st January and this is a festival for all the community people. And people spread the joy and happiness in nature.
A large number of American citizens in the country celebrate the new year’s eve with lots of parties, events and the final new year fireworks at midnight. There is a special gathering organized in the public square of many cities in the united states. Some people also kiss their spouse/lover at midnight to welcome the new year.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *