Hindi Lekh

Few Lines on Basant Panchami | Hindi and English

few_lines_on_basant_panchmi

Happy Vasant Panchami 2020 : बसंत पंचमी का त्यौहार को ” ऋतु परिवर्तन ” के त्यौहार के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यहाँ से शीत ऋतु की समाप्ति के साथ वसंत ऋतु का आगमन होता है ।ये त्यौहार हिन्दी कैलंडर के हिसाब से माघ मास की पंचमी तिथि को मनाया जाता है । इस वर्ष 29 जनवरी 2020, बुधवार के दिन यह त्योहार पूरे देश में बड़ी – धाम से मनाया जाएगा ।

इस दिन ज्ञान की देवी सरस्वती का जन्म हुआ था , इस कारण इस दिन देवी सरस्वती की पूजा अर्चना की जाती है । माँ सरस्वती के साथ ये त्यौहार सरसों की फसल के उपलक्ष में मनाया जाता है । इस कारण इस दिन पीले वस्त्र पहने जाते है । आज हम आपको basant ritu (बसंत ऋतु) पर some lines उपलब्ध करा रहे है ।

Beautiful Lines on Basant Panchami

  • हमारे देश में बसंत पंचमी का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है।
  • बसंत पंचमी के दिन ज्ञान की अधिष्ठात्री देवी सरस्वती देवी का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन देवी सरस्वती की पूजा-अर्चना की जाती है।
  • बसंत पंचमी पर हमारी फसलें-गेहूँ, जौ, चना आदि तैयार हो जाती हैं इसलिए इसकी खुशी में हम बसंत पंचमी का त्योहार मनाते हैं।
  • संध्या के समय बसंत का मेला लगता है जिसमें लोग परस्पर एक-दूसरे के गले से लगकर आपस में स्नेह, मेल-जोल तथा आनंद का प्रदर्शन करते हैं।
  • इस पर्व पर लोग बसंती कपड़े पहनते हैं और बसंती रंग का भोजन करते हैं तथा मिठाइयाँ बाँटते हैं।
  • कहीं-कहीं पर बसंती रंग की पतंगें उड़ाने का कार्यक्रम बड़ा ही रोचक होता है।

Lines on Basant Panchami in Hindi

  • ‘बसंत पंचमी’ हिंदुओं का एक प्रसिद्द त्यौहार है। इसे ‘श्रीपंचमी’ भी कहते हैं।
  • यह पूजा पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े उल्लास से मनायी जाती है।
  • हिन्दू कैलेंडर के अनुसार यह त्यौहार माघ महीने के पांचवें दिन (पंचमी) पर हर साल मनाया जाता है।
  • बसंत पंचमी, ज्ञान, संगीत और कला की देवी, ‘सरस्वती’ की पूजा का त्यौहार है।
  • इस त्यौहार में बच्चों को हिंदू रीति के अनुसार उनका पहला शब्द लिखना सिखाया जाता है।
  • बसंत पंचमी के दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है।
  • इस दिन पीले वस्त्र धारण करने का रिवाज़ है।
  • बसंत पंचमी सर्दियों के मौसम के अंत का प्रतीक है।
  • हर कोई बहुत मज़े और उत्साह के साथ इस त्यौहार का आनंद लेता है।

Lines on Basant Panchami in Punjabi

  • ਬਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਮਾਘ ਮਹੀਨੇ ਦੀ ਪੰਜਵੀਂ ਤਾਰੀਖ ਨੂੰ ਪੈਂਦੀ ਹੈ।
  • ਬਸੰਤ ਦੀ ਸ਼ੁਰੂਆਤ ਨਾਲ ਕੁਦਰਤ ਦਾ ਕਣ ਖਿੜ ਜਾਂਦਾ ਹੈ।
  • ਇਸ ਦਿਨ, ਪਤਝੜ ਦਾ ਮੌਸਮ ਖ਼ਤਮ ਹੁੰਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਹਰਿਆਲੀ ਸ਼ੁਰੂ ਹੁੰਦੀ ਹੈ।
  • ਵਾਸਤ ਪੰਚਮੀ ਦਾ ਤਿਉਹਾਰ ਮੁੱਖ ਤੌਰ ‘ਤੇ ਗਿਆਨ ਅਤੇ ਬੁੱਧ ਦੀ ਦੇਵੀ ਸਰਸਵਤੀ ਨੂੰ ਸਮਰਪਿਤ ਹੈ।
  • ਇਹ ਮੰਨਿਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ ਕਿ ਵਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਦੇ ਦਿਨ ਬ੍ਰਹਮਾ ਨੇ ਸਰਸਵਤੀ ਨੂੰ ਜਨਮ ਦਿੱਤਾ ।
  • ਇਹ ਬ੍ਰਹਮਾ ਹੈ ਜਿਸ ਨੇ ਸਰਸਵਤੀ ਨੂੰ ਵਾਗੀਸ਼ਵਰੀ, ਵੀਨਾਵਾਦਿਨੀ, ਸ਼ਾਰਦਾ ਆਦਿ ਦੇ ਨਾਵਾਂ ਨਾਲ ਸੰਬੋਧਿਤ ਕੀਤਾ।
  • ਵਾਸਤ ਪੰਚਮੀ ਨੂੰ ਵੀ ਸਰਸਵਤੀ ਦੇ ਜਨਮ ਦਿਵਸ ਵਜੋਂ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ।
  • ਵਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਦੇ ਦਿਨ, ਪ੍ਰਿਥਵੀ ਰਾਜ ਚੌਹਾਨ ਨੇ ਆਖਰੀ ਲਾੜੇ ਮੁਹੰਮਦ ਗੌਰੀ ਨੂੰ ਹਰਾਇਆ।
  • ਵਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਨੇ ਅਮਰ ਵਿਭੂਤੀ ਮਹਾਕਵੀ ਸੂਰਿਆਕਾਂਤ ਤ੍ਰਿਪਾਠੀ ਨੂੰ ਹਿੰਦੀ ਸਾਹਿਤ ਦੀ ‘ਨਿਰਾਲਾ’ ਦੀ ਯਾਦ ਦਿਵਾਉਂਦੀ ਹੈ।
  • ਮਹਾਕਵੀ ਸੂਰਿਆਕਾਂਤ ਤ੍ਰਿਪਾਠੀ ਨਿਰਾਲਾ ਦਾ ਜਨਮ ਸੰਨ 1899 ਵਿਚ ਵਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਦੇ ਦਿਨ ਹੋਇਆ ਸੀ।

Lines on Basant Panchami in English

  • A popular Hindu festival, Vasant Panchami, also called Basant Panchami, is celebrated on the fifth day of the month of ‘Magh’.
  • This festival celebrates the onset of the spring season and the day of birth of.
  • Goddess Saraswati, who is the Goddess of Knowledge and Learning.
  • It also announces the arrival of the colourful festival of Holi.
  • Yellow rules the colour of the day, as it heralds the arrival of spring and signifies the positive energy of life and nature.
  • Not only Hindus but also Jains, Sikhs and Buddhists worship Goddess Saraswati.
  • Vasant Panchami is celebrated by a prayer sung in praise of Goddess Saraswati.
  • The day is considered auspicious for marriage and for a house warming ceremony.
  • Children fly colourful kites and the sky comes alive with blobs of colour.
  • Women swing on colourful swings tied to trees, singing traditional folk songs.
  • Vasant Panchami is celebrated not only by the Hindus in India but also in Nepal and Bali.

5 Lines on Basant Panchami

  • वसंत पंचमी माघ मास की पंचमी तिथि को पड़ती है।
  • वसंत ऋतु के आगाज के साथ ही प्रकृति का कण-कण खिल उठता है।
  • इस दिन पतझड़ का मौसम खत्म होकर हरियाली का प्रारम्भ होता हैं ।
  • वसंत पंचमी का पर्व मुख्य रूप से ज्ञान और बुद्धि की देवी सरस्वती को समर्पित है।
  • मान्यता ऐसी है कि वसंत पंचमी के दिन ब्रह्मा ने सरस्वती का प्रादुर्भाव किया था।

10 lines on basant panchami

  • वसंत पंचमी का त्योहार हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व रखता है।
  • इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है।
  • यह पूजा पूर्वी भारत में बड़े उल्लास से की जाती है।
  • इस दिन स्त्रियाँ पीले वस्त्र धारण कर पूजा-अर्चना करती हैं।
  • पूरे साल को जिन छः मौसमों में बाँटा गया है, उनमें वसंत लोगों का मनचाहा मौसम है।
  • पुराणों के अनुसार श्रीकृष्ण ने सरस्वती से खुश होकर उन्हें वरदान दिया था कि वसंत पचंमी के दिन तुम्हारी भी आराधना की जाएगी।
  • इस कारण हिंदू धर्म में वसंत पंचमी के दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है।
  • वसंत पंचमी आज बुधवार होने की वजह से अधिक फलदायी है।
  • इसमें प्रातः उठकर बेसनयुक्त तेल का शरीर पर उबटन करके स्नान करना चाहिए।
  • साथ ही केशरयुक्त मीठे चावल अवश्य घर में बनाकर उनका सेवन करना चाहिए।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

Copyright © 2018 Hindiguides.in

To Top