Quotes

Guru Gobind Singh Ji Quotes in Hindi & Punjabi – गुरु गोबिंद सिंह के अनमोल वचन

Guru Gobind Singh Ji Quotes in Hindi

गुरु गोबिंद सिंह जी का सिख धर्म दंसवे गुरु थे जिनका जन्म 22 दिसंबर 1666 पटना बिहार, भारत में हुआ था बैसाखी के दिन इन्होने खालसा पंथ की स्थापना की थी इसीलिए बैसाखी के त्यौहार को सिख धर्म के लोगो द्वारा बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है इनके पिता गुरु तेग बहादुर थे वह भी सिख धर्म के गुरु थे | गुरु गोबिंद सिंह जी खालसा पंथ सेनापति के प्रथम सेनापति थे | इसीलिए हम आपको इनके द्वारा कहे गए कुछ बेहतरीन विचारो के बारे में बताते है जिन विचारो को जानकार आप इनके बारे में काफी जानकारी पा सकते है |

Guru Gobind Singh Ji Ke Vachan

दिन रात गुरु कि पूजा करो, वही है जो हमें इस संसार के पालनहार परमपिता पमेश्वर के समीप पहुंचता है.

जो व्यक्ति दिन और रात परमत्मा का ध्यान करता है, उसके लिए मै स्वं को बलिदान करता

अगर आप केवल भविष्य के बारे में सोचते रहेंगे तो वर्तमान भी खो देंगे.

उस परमपिता परमेश्वर ने हमें जन्म दिया है ताकि हम संसार में अच्छे कर्म करें और बुराई को दूर करें.

गुरु गोविंद सिंह के वचन

दिन-रात, हमेशा ईश्वर का ध्यान करो.

ईश्वर ने हमें जन्म दिया है ताकि हम संसार में अच्छे काम करें और बुराई को दूर करें.

सत्कर्म कर्म के द्वारा, तुम्हे सच्चा गुरु मिलेगा, और उसके बाद प्रिय भगवान मिलेंगे, उनकी मधुर इच्छा से, तुम्हे उनकी दया का आशीर्वाद प्राप्त होगा.

स्वार्थ ही अशुभ संकल्पों को जन्म देता है.

गुरु गोविंद सिंह के वचन

Guru Gobind Singh Vachan in Hindi

सबसे ज्यादा सुख और अनंत शांति तब प्राप्त होती है जब कोई अपने भीतर से स्वार्थ को समाप्त कर देता है.

मृत्यु के शहर में, उन्हें बाँध कर पीटा जाता है, और कोई उनकी प्रार्थना नहीं सुनता है.

भगवान के नाम के अलावा कोई मित्र नहीं है, भगवान के विनम्र सेवक इसी का चिंतन करते और इसी को देखते हैं.

सेवक नानक भगवान के दास हैं, अपनी कृपा से, भगवान उनका सम्मान सुरक्षित रखते हैं.

Guru Gobind Singh Quotes in Punjabi

बिना गुरु के किसी को भगवान का नाम नहीं मिला है.

जो लोग परमपिता परमेश्वर के नाम का सिमरण करते हैं, वे सभी शांति और सुख प्राप्त करते हैं.

असहायों पर अपनी तलवार चलाने के लिए उतावले मत हो, अन्यथा विधाता तुम्हारा खून बहायेगा.

जो लोग गुरु की भक्ति में है वो गुरु द्वारा सरंक्षित है, तथा जन्म मरन के बंधन से छुट गए है, जो नहीं है वो आ जा रहे है

Famous Quotes By Guru Gobind Singh Ji in Hindi

जब आप अपने अन्दर से अहंकार मिटा देंगे तभी आपको वास्तविक शांति प्राप्त होगी.

मैं उस गुरु के लिए न्योछावर हूँ, जो भगवान के उपदेशों का पाठ करता है.

हे ईश्वर मुझे आशीर्वाद दें कि मैं कभी अच्छे कर्म करने में संकोच ना करूँ.

इंसान से प्रेम ही ईश्वर की सच्ची भक्ति है.

गुरु गोबिंद सिंह के अनमोल वचन

Guru Gobind Singh Birthday Quotes

यदि आप सत्य और आत्म अनुशासन के अनुसार कार्य करते है तो शांति और खुशी आपके मन के भीतर भर जायेगा.

जो कोई भी मुझे भगवान कहे, वो नरक में चला जाए.

मुझे उसका सेवक मानो. और इसमें कोई संदेह मत रखो.

सच्चे गुरु की सेवा करते हए स्थायी शांति प्राप्त होगी, जन्म और मृत्यु के कष्ट मिट जायेंगे.

Guru Gobind Singh Jayanti Quotes

आप स्वयं ही स्वयं हैं, अपने स्वयं ही सृष्टि का सृजन किया है.

हर कोई उस सच्चे गुरु की जयजयकार और प्रशंसा करे जो हमें भगवान की भक्ति के खजाने तक ले गया है.

जो लोग भगवान के नाम पर ध्यान करते हैं, वे सभी शांति और सुख प्राप्त करते हैं.

अच्छे कर्मों से ही आप ईश्वर को पा सकते हैं. अच्छे कर्म करने वालों की ही ईश्वर मदद करता है.

Guru Gobind Singh Famous Quotes in Hindi

ये मित्र संगठित हैं, और फिर से अलग नहीं होंगे, उन्हें स्वयम सृजनकर्ता भगवान् ने एक किया है.

बिना नाम के कोई शांति नहीं है.

जब बाकी सभी तरीके विफल हो जाएं, तो हाथ में तलवार उठाना सही है.

जब कोई व्यक्ति अपने भीतर से स्वार्थ उन्मूलन करता है तो वह अपने अंदर सबसे बड़ा आराम और स्थायी शांति कि अनुभूति करता है.

Guru Gobind Singh Ji Ke Vachan

Guru Gobind Singh Ji Thoughts

उसने हेमशा अपने अनुयायियों को आराम दिया है और हर समय उनकी मदद की है.

सबसे महान सुख और स्थायी शांति तब प्राप्त होती है जब कोई अपने भीतर से स्वार्थ को समाप्त कर देता है.

हमें उन अनुष्ठानों को और क्रियाकलापों को हटा देना चाइये, जो हमें भगवन की भक्ति से दूर ले जाएं

मैं उन लोगों को पसंद करता हूँ जो सच्चाई के मार्ग पर चलते हैं.

Hindi Quotes on Guru Gobind Singh

हे परमेश्वर मुझे आशीर्वाद दें कि मैं कभी अच्छे कर्म करने में संकोच ना करूँ और लोगों की भलाई के लिए कम करूँ

अज्ञानी व्यक्ति पूरी तरह से अंधा है, वह मूल्यवान चीजों की कद्र नहीं करता है.

आपने ब्रह्माण्ड की रचना की, आप ही सुख-दुःख के दाता हैं.

जो व्यक्ति परमात्मा के पथ पर चलता है, भगवान उसके कर्मो का कर्ता स्वं बनता है

1 Comment

1 Comment

  1. Aman Rahangdale

    December 29, 2019 at 2:28 pm

    Best quote
    गुरु गोबिंद सिंह जी quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

Copyright © 2018 Hindiguides.in

To Top