Hindi Lekh

Haryana Day Speech in Hindi, English & Haryanvi | Pdf Download

Haryana diwas speech in english

Haryana Day 2019: हरियाणा विविध परिदृश्यों का एक उज्ज्वल बहुरूपदर्शक है, जो शानदार पुरातत्व को प्रदर्शित करता है और कला और संस्कृति का जश्न मनाता है। हरियाणा आधुनिक भारत के चेहरे का प्रतिनिधित्व करता है। जो भविष्य की भविष्यवाणी कर रहा है वह अभी तक अपनी शानदार संस्कृति में निहित है। यह एक ऐसी भूमि है जहां मेहमानों को भगवान के बराबर माना जाता है। हरियाणा नाम का अर्थ है ईश्वर का वास। यह दो संस्कृत शब्दों हरि ’का मिश्रण है जिसका अर्थ है ईश्वर और अयन’ का अर्थ है घर। आज हरियाणा दक्षिण एशिया के सबसे धनी और आर्थिक रूप से विकसित क्षेत्रों में से एक है।

हरियाणा दिवस पर भाषण

जिसे भारत का ग्रीन लैंड कहा जाता है। वो हरियाणा उत्तर भारतीय राज्य है। राज्य के दक्षिण में राजस्थान और पश्चिम में हिमाचल प्रदेश और उत्तर में पंजाब की सीमा और पूर्व में दिल्ली क्षेत्र है। हरियाणा और पडोसी राज्य पंजाब की भी राजधानी चंडीगढ़ ही है। इस राज्य की स्थापना 1 नवम्बर 1966 को हुई। क्षेत्रफल के हिसाब से इसे भारत का 20 वा सबसे बड़ा राज्य बनाता है।

1 नवम्बर 1966 को पंजाब पुनर्गठन अधिनियम एक्ट (1966) के तहत हरियाणा राज्य का गठन हुआ। 23 अप्रैल 1966 को पंजाब राज्य को विभाजित करने और नये हरियाणा राज्य की सीमाए निर्धारित करने के लिए भारत सरकार ने जे.सी. शाह की अध्यक्षता में शाह कमीशन की स्थापना की।

31 मई 1966 को कमीशन ने अपनी रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के अनुसार कर्नल, गुडगाँव, रोहतक, महेंद्रगढ़ और हिसार जिलो को नये राज्य हरियाणा का भाग बनाया गया। साथ ही इसमें संगरूर जिले की जींद और नरवाना तहसील और नारैनगढ़, अम्बाला और जगाधरी तहसील को भी शामिल किया गया।

साथ ही कमीशन ने सिफारिश भी की के चंडीगढ़ (पंजाब की राजधानी) में शामिल खराद तहसील को भी हरियाणा में शामिल किया जाए। जबकि खराद के छोटे से भाग को ही हरियाणा में शामिल किया गया। चंडीगढ़ राज्य को केन्द्रशासित प्रदेश बनाया गया था, जो पंजाब और हरियाणा दोनों राज्य की राजधानी बनी हुई थी।

Haryana day speech in hindi language

हरियाणा की स्थापना 1 नबम्बर 1966 में हुई थी। हरियाणा की राजधानी चण्डीगढ़ है। हरियाणा में विधान सभा की 90 लोकसभा की 10 तथा राज्य सभा की 5 सीटें हैं| राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली हरियाणा से तीन ओर से घिरी हुई है। हरियाणा का क्षेञफल 44212 किमी है। राज्य में सडकों की कुल लंबाई 34772 किमी है (2015 के अनुसार)। अम्बाला, पानीपत, और जखाल यहॉ के प्रमुख रेलवे स्टेशन हैं यहॉ जिलों की संख्या 22 है। हरियाणा की राजकीय भाषा ‘हिंदी’ है। हरियाणा का राजकीय पशु ‘काला हिरन’ है। हरियाणा का राजकीय फूल कमल है। हरियाणा का राजकीय वृक्ष ‘पीपल’ है। हरियाणा का राजकीय पक्षी ‘काला तीतर’ है। यमुना और घाघरा यहॉ बहने वाली प्रमुख नदीयाॅ हैं। हरियाणा देश का पहला राज्य है जहॉ 1970 में सभी राज्यों में बिजली की व्यवस्था की गई थी। हरियाणा, भारत के अमीर राज्यों में से एक है और प्रति व्यक्ति आय के आधार पर यह देश का दूसरा सबसे धनी राज्य है।

इसके अतिरिक्त भारत में सबसे अधिक ग्रामीण करोड़पति भी इसी राज्य में हैं। भारत में हरियाणा यात्रि कारों, द्विचक्र वाहनों और ट्रैक्टरों के निर्माण में सर्वोपरी राज्य है। हाेली, दिवाली, तीज, गुग्गापीर, और सॉझी यहॉ के प्रमुख पर्व हैं। गुडगांव स्थित सुल्तान पुर राष्ट्रीय उद्यान हरियाणा का एकमाञ राष्ट्रीय उद्यान है।

इसकी सीमायें उत्तर में हिमाचल प्रदेश, दक्षिण एवं पश्चिम में राजस्थान से जुड़ी हुई हैं। यमुना नदी इसके उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश राज्यों के साथ पूर्वी सीमा को परिभाषित करती है। हिन्दू मतों के अनुसार महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में हुआ इसमें भगवान कृष्ण ने भागवत गीता का वादन किया । इसके अलावा यहाँ तीन पानीपत की लड़ाइयाँ हुई। हरियाणा के विषय में वैदिक साहित्य में अनेक उल्लेख मिलते हैं। इस प्रदेश में की गई खुदाईयों से यह ज्ञात होता है कि सिंधु घाटी सभ्यता और मोहनजोदड़ों संस्कृति का विकास यहीं पर हुआ था। इस राज्य को ब्रह्मवर्त तथा ब्रह्मर्षि प्रदेश के अतिरिक्त ‘ ब्रह्म की उत्तरवेदी’ के नाम से भी पुकारा गया। इस राज्य को आदि सृष्टि का जन्म-स्थान भी माना जाता है।

यह भी मान्यता है कि मानव जाति की उत्पत्ति जिन वैवस्तु मनु से हुई, वे इसी प्रदेश के राजा थे। ष्अवन्ति सुन्दरी कथाष् में इन्हें स्थाण्वीश्वर निवासी कहा गया है। पुरातत्वेत्ताओं के अनुसार आद्यैतिहासिक कालीन-प्राग्हड़प्पा, हड़प्पा, परवर्ती हड़प्पा आदि अनेक संस्कृतियों के अनेक प्रमाण हरियाणा के वणावली, सीसवाल, कुणाल, मिर्जापुर, दौलतपुर और भगवानपुरा आदि स्थानों के उत्खननों से प्राप्त हुए हैं। प्राचीन हरियाणा की सबल गण-परम्परा के फलस्वरूप ही यहां के लोग सदा जनवादी बने रहे और कालांतर में उन्होने हर उस साम्राज्यवादी शक्ति से टक्कर ली जिन्होने भी उनकी जनवादी व्यवस्था में हस्तक्षेव किया। सन् का जन-विद्रोह भी उसी आस्था का प्रतीक था। तत्कालीन समय में हरियाणा में हसन खाँ मेवाती, जलाल खाँ तथा मोहन सिंह मंढार की रिसायतंें सर्वाधिक प्रसिद्ध थीं। सन 1504 में इस प्रदेश को सरदार शेरशाह सूरी ने हुमायूं से छीन लिया। शेरशाह ने हरियाणा की शासन-व्यवस्था में विशेष-रूचि ली और उसने हरियाणा केकिसानों की स्थिति को उत्तम बनाने के लिए अनेक सुधार किये।

हरियाणा दिवस स्पीच इन हरयाणवी

हरियाणा, उत्तर-मध्य भारत में राज्य। यह उत्तर-पश्चिम में पंजाब राज्य और चंडीगढ़ के केंद्र क्षेत्र, उत्तर और पूर्वोत्तर राज्यों में हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड राज्यों द्वारा पूर्व में उत्तर प्रदेश राज्य और दिल्ली के केंद्रशासित प्रदेश से घिरा हुआ है, और राजस्थान राज्य द्वारा दक्षिण और दक्षिणपश्चिम। चंडीगढ़ शहर, चंडीगढ़ संघ के भीतर, न केवल उस क्षेत्र की राजधानी बल्कि हरियाणा और पंजाब राज्यों की राजधानी के रूप में कार्य करता है।

हरियाणा का गठन 1 नवंबर, 1966 को पंजाब के पूर्व राज्य के विभाजन के दो अलग-अलग राज्यों में पंजाबी भाषी पंजाब और हिंदी भाषी हरियाणा में हुआ था। यद्यपि पुनर्गठन ने सिख समुदाय द्वारा पंजाबी उप-पंजाबी भाषी प्रांत के लिए मांगों का पालन किया, लेकिन यह पंजाब के हिंदी भाषी क्षेत्र में विशाल हरियाणा (ग्रेटर हरियाणा) के लोगों की आकांक्षाओं को भी काफी हद तक पूरा करता था। हरिया नाम, हरि (हिंदू भगवान विष्णु) और आयन (घर) से, जिसका मतलब है “भगवान का निवास।”
हरियाणा की मिट्टी आमतौर पर गहरी और उपजाऊ होती है। कुछ अपवाद हैं, हालांकि, पहाड़ी पूर्वोत्तर और दक्षिणपश्चिमी के रेतीले इलाकों की खराब भूमियां शामिल हैं जो राजस्थान के थार (ग्रेट इंडियन) रेगिस्तान को फेंकती हैं। अधिकांश राज्य की भूमि कृषि है, लेकिन सिंचाई की आवश्यकता है।

हरियाणा विभिन्न स्तनधारियों का घर है। तेंदुए, जैकल्स, जंगली सूअर, और कई प्रकार के हिरण समेत बड़ी प्रजातियां आम तौर पर पूर्वोत्तर और दूर दक्षिण के पहाड़ी क्षेत्रों तक ही सीमित होती हैं। छोटे स्तनधारियों, जैसे कि चमगादड़, गिलहरी, चूहों, चूहों, और जर्बिल्स, मैदानी इलाकों में आम हैं। नदियों के पास विभिन्न प्रकार के बतख और तिल पाए जाते हैं। कृषि क्षेत्रों में कबूतर और कबूतर आम हैं, जैसे छोटे, रंगीन पक्षियों जैसे पैराकेट्स, बुनिंग्स, सनबर्ड, बुलबुल और किंगफिशर। राज्य में सांप की कई प्रजातियां पाई जाती हैं; इनमें से अजगर, बोआ, और चूहे सांप, साथ ही जहरीले क्रेट और वाइपर भी हैं। अन्य छिपकलियां, मेंढक और कछुए समेत अन्य सरीसृप भी हरियाणा में रहते हैं।

एक कृषि समृद्ध राज्य, हरियाणा केंद्रीय पूल (अधिशेष खाद्य अनाज की एक राष्ट्रीय भंडार प्रणाली) में बड़ी मात्रा में गेहूं और चावल का योगदान करता है। इसके अलावा, राज्य कपास, बलात्कार और सरसों के बीज, मोती बाजरा, चम्मच, गन्ना, ज्वारी, मक्का (मक्का), और आलू की महत्वपूर्ण मात्रा का उत्पादन करता है। डेयरी मवेशी, भैंस, और बैल, जो भूमि को खेती करने और मसौदे जानवरों के रूप में उपयोग करने के लिए उपयोग किए जाते हैं, पूर्वोत्तर क्षेत्र में प्रमुख हैं।

राज्य के विकास कार्यक्रम में शिक्षा को उच्च प्राथमिकता दी गई है, और सरकार और निजी संगठनों ने सभी स्तरों पर शिक्षा को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हालांकि, जबकि हजारों प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों ने यह सुनिश्चित किया है कि पूरे राज्य में बुनियादी शिक्षा उपलब्ध है, अधिकांश जनसंख्या-विशेष रूप से ग्रामीण महिलाएं 21 वीं शताब्दी की शुरुआत में पढ़ने में असमर्थ रहीं। इस प्रवृत्ति को दूर करने के प्रयास में, राज्य ने सभी प्रकार की शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए सामाजिक और आर्थिक रूप से वंचित पृष्ठभूमि से छात्रों को सहायता प्रदान करना जारी रखा है।

Speech on haryana diwas in English

 

Haryana diwas par speech

Good morning to one and all present here. Today I Sejal of class IX – A is here to tell you all about Haryana day.

Haryana was carved out of the Indian state of Punjab on 1st November 1966 on the recommendation of the Sardar Hukam Singh Parliamentary Committee.

So 1st November every year is celebrated as The Haryana Day at every district. State level function is organised in a traditional way with great zeal at Haryana Raj Bhawan where the Haryana Governor is the Chief Guest and the Chief Minister presides over the function. Large numbers of politicians & Senior Police and Civil Officers also attend this function.

It is state holiday in all Government offices, school & colleges. On this day Government highlights its achievements during the whole year & certain public announcements are made for the benefits of employees & public .Martyrs are remembered on this day

Extending his heartiest congratulations to the people of Haryana on this significant day, in his message the Governor announces& highlights achievements of the State i.e. Haryana has emerged as the lead State in every field of human endeavour in the country.

Haryana is one of the fastest growing economies and had the highest per capita income in the country. This State is strengthening its economy and democratic norms for further advancements through its progressive social and economic policies and programmes.

Appreciating the multidimensional progress of the State, the Governor feels that this small state of the country had taken lead in the manufacturing of motor cars, scooters and two-wheelers. He expects the people of the State to maintain this record speed of development in every walk of life in future too and they should take it their prime responsibility.

The Chief Minister, also extends his greetings to the people of Haryana on this occasion and delivers his message in the name of the people, the Chief Minister talks about the number one State of the country in every field of development and prosperity.

He urges the people of the State to cooperate and coordinate with the government for taking the state to the highest peak of achievements in the field of development and progress.

First Three districts of Haryana are awarded cash award for improving sex ratio during the year by Haryana Governor, on the occasion of Haryana Day celebrations.

The Governor and the Chief Minister honours five artistes with Awards for their outstanding performance in the fields of art, cultural, public relations, folk mus

Haryana diwas speech in hindi

ऊपर हमने आपको हरियाणा दिवस पर स्पीच, हरियाणा दिवस स्पीच इन हिंदी, रियाणा का इतिहास क्या है, हरियाणा स्थापना दिवस, हरियाणा का पुराना नाम क्या है, हरियाणा का पुराना नाम, हरियाणा की संस्कृति, haryana day short speech, haryana day speech in Haryanvi, haryana day 2019 speech, हरयाणा डे स्पीच इन हिंदी लैंग्वेज, किसी भी भाषा जैसे Hindi, Urdu, उर्दू, English, sanskrit, Tamil, Telugu, Marathi, Punjabi, Gujarati, Malayalam, Nepali, Kannada के Language Font में साल 2007, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 का full collection whatsapp, facebook (fb) व instagram पर share कर सकते हैं|

हरियाणा भारत के उतर में स्थित एक राज्य है और इसकी राजधानी चण्डीगढ़ है। यह पंजाब से अलग हुआ राज्य है और इसका निर्माण 1 नवंबर, 1966 को हुआ था। हरियाणा की सीमा उतर में हिमाचल से और दक्षिण में राज्यस्थान से लगती है। हरियाणा भारत की राजधानी दिल्ली को तीन तरफ से घेरे हुए हैं। हरियाणा के लोग ज्यादातर खेती करते हैं और यहाँ के जवान ज्यादातर सेना में भरती होते हैं। आमतौर पर हरियाणा में हरियाणवी बोली जाती है लेकिन इसकी राजकीय भाषा हिंदी है। हरियाणा की राजकीय पशु नील गाय है और राजकीय पेड़ पीपल है।

भारत में मुख्य पर्यटक स्थल कुरूक्षेत्र हैं। यहाँ पर मनाए जाने वाले मुख्य त्योहार में होली ,दीवाली, साँझी आदि आते हैं। यहाँ के लोग ज्यादातर कुश्ती या कबड्डी खेलते हैं। हरियाणा में दुध दही को ज्यादा खाया जाता है। हरियाणा का सांस्कृतिक पहनावा पुरूषों के लिए धोती कुर्ता है और औरतों के लिए दामन और कुर्ती है जिसके उपर वह घोटे वाली चुंदड़ी ओड़ती है। हरियाणा में हर तरफ हरियाली देखने को मिलती है। यहाँ के लोग मिल जुलकर रहते हैं। यह एक बहुत ही प्यारा राज्य है। हरियाणा में बहने वाली प्रमुख नदियों में यमुना और घाघर है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

Copyright © 2018 Hindiguides.in

To Top