Poem (कविता)

15 अगस्त पर कविता | Independence Day Poems In Hindi | स्वतंत्रता दिवस पर कविताएं | Pdf Download

Independence day poem in hindi

स्वतंत्रता दिवस 2019: स्वतंत्रता दिवस तक की अवधि एक ऐसा समय होता है जब प्रमुख सरकारी इमारतों को घरों और अन्य इमारतों से रोशनी और तिरंगा लहराते तार से रोशन किया जाता है। स्वतंत्रता दिवस एक ऐसा दिन है जब भारत में लोग अपने नेताओं को श्रद्धांजलि देते हैं और जो लोग भारत की आजादी के लिए लड़े थे। भारत के स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में फिल्में भी टेलीविजन पर दिखाई जाती हैं। प्रसारण, प्रिंट और ऑनलाइन मीडिया में दिन को बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रतियोगिता, कार्यक्रम और लेख हो सकते हैं।

Independence day poem in hindi

ऐ मेरे प्यारे वतन,
ऐ मेरे बिछड़े चमन
तुझ पे दिल कुरबान

तू ही मेरी आरजू़,
तू ही मेरी आबरू
तू ही मेरी जान

तेरे दामन से जो आए
उन हवाओं को सलाम
चूम लूँ मैं उस जुबाँ को
जिसपे आए तेरा नाम

सबसे प्यारी सुबह तेरी
सबसे रंगी तेरी शाम
तुझ पे दिल कुरबान

माँ का दिल बनके कभी
सीने से लग जाता है तू
और कभी नन्हीं-सी बेटी
बन के याद आता है तू
जितना याद आता है मुझको
उतना तड़पाता है तू
तुझ पे दिल कुरबान

छोड़ कर तेरी ज़मीं को
दूर आ पहुँचे हैं हम
फिर भी है ये ही तमन्ना
तेरे ज़र्रों की कसम

हम जहाँ पैदा हुए उस
जगह पे ही निकले दम
तुझ पे दिल कुरबान

Independence day poem in english

“Not where the musk of happiness blows,
Not where darkness and fears never tread;
Not in the homes of perpetual smiles,
Nor in the heaven of a land of prosperity
Would I be born
If I must put on mortal garb once more…”

“Is there ought you need that my hands withhold,
Rich gifts of raiment or grain or gold?
Lo ! I have flung to the East and the West
Priceless treasures torn from my breast,
And yielded the sons of my stricken womb
To the drum-beats of the duty, the sabers of doom…..”
The Gift of India
Happy Independence Day !!!

स्वतंत्र दिवस पर कविता

हम नन्हें-मुन्ने हैं बच्चे,

आजादी का मतलब नहीं है समझते।

इस दिन पर स्कूल में तिरंगा है फहराते,

गाकर अपना राष्ट्रगान फिर हम,

तिरंगे का सम्मान है करते,

कुछ देशभक्ति की झांकियों से

दर्शकों को मोहित है करते

हम नन्हें-मुन्ने हैं बच्चे,

आजादी का अर्थ सिर्फ यही है समझते।

वक्ता अपने भाषणों में,

न जाने क्या-क्या है कहते,

उनके अन्तिम शब्दों पर,

बस हम तो ताली है बजाते।

हम नन्हें-मुन्ने है बच्चे,

आजादी का अर्थ सिर्फ इतना ही है समझते।

विद्यालय में सभा की समाप्ति पर,

गुलदाना है बाँटा जाता,

भारत माता की जय के साथ,

स्कूल का अवकाश है हो जाता,

शिक्षकों का डाँट का डर,

इस दिन न हमको है सताता,

छुट्टी के बाद पतंगबाजी का,

लुफ्त बहुत ही है आता,

हम नन्हें-मुन्ने हैं बच्चे,

बस इतना ही है समझते,

आजादी के अवसर पर हम,

खुल कर बहुत ही मस्ती है करते।।

…………………………………………भारत माता की जय।

…………………………………………………………………………..वन्दना शर्मा।

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर कविता

Independence day poem in english

जन-गण-मन की धुन को सुन कर, हुए झंकृत मन वीणा के तार
बधाई आजादी के दिवस की, भारत मां सजी सोलह श्रंगार

देखूं जब-जब लहराता तिरंगा,गुमान देश पर होता है
लिया जन्म जहां शूरवीरों ने ,सिर नतमस्तक हो जाता है

क्या इंसान थे,किस मिट्टी के थे वो,क्या उन्हें जीवन से प्यार न था
उनकी भी कुछ इच्छाएं होंगी, क्या उनका कोई परिवार न था

समझा सब कुछ देश को अपने, जंग तभी तो जीत गए
दो सौ वर्ष की गुलामी छूटी ,अंग्रेजों के दिन बीत गए

उनके इस बलिदान को क्या व्यर्थ यूंही जाने देंगे
क्यूं न हम ये कसम उठाएं,आंच देश पर न आने देंगे

बच्चा-बच्चा बन जाए सैनिक,गर बुरी नजर दुश्मन डाले
हस्ती उसकी मिलाएं खाक में, करे कभी जो हमला वे

भाईचारा रखें परस्पर, अमन चैन का नारा हो
सद्भावना, शांति रखें दिलों में, जाति, धर्म का न बंटवारा हो

बनें पहिए प्रगति के रथ के,सबसे आगे बढ़ते जाएं
कर दें रौशन नाम जहां में, देश का अपने मान बढ़ाएं

आजादी की वर्षगांठ की ,छटा निराली बढ़ती जाए
खुशहाली के फूल हों बिखरे,खुश्बू से चमन महकाएं

आओ आज़ादी दिवस मनाएं
आओ आज़ादी दिवस मनाएं

Swatantrata diwas kavita in hindi

ऊपर हमने आपको independence day poem in tamil, इंडिपेंडेंस डे पोएम, independence day poem in marathi, in english, इंडिपेंडेंस डे पोएम इन हिंदी, स्वतंत्रता दिवस पर बाल कविता, स्वतंत्रता दिवस पर वीर रस की कविता, swatantrata diwas kavita, स्वतंत्रता दिवस की कविताएं, स्वतंत्रता पर बाल कविता, आजादी पर हिंदी कविता, 15 अगस्त पर देशभक्ति कविता, 71 स्वतंत्रता दिवस शायरी, स्वतंत्रता सेनानियों पर कविता, 15 अगस्त पर कविता हिंदी में, स्वतंत्रता दिवस पर गीतindependence day poem in urdu, 15 august independence day poem in hindi, in marathi, poem in hindi, आदि की जानकारी दी है जिसे आप whatsapp, facebook व instagram पर अपने groups में share कर सकते हैं|

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा,
झंडा ऊँचा रहे हमारा।

सदा शक्ति बरसाने वाला,
प्रेम सुधा सरसाने वाला
वीरों को हर्षाने वाला
मातृभूमि का तन-मन सारा,
झंडा ऊँचा रहे हमारा।

स्वतंत्रता के भीषण रण में,
लखकर जोश बढ़े क्षण-क्षण में,
काँपे शत्रु देखकर मन में,
मिट जाये भय संकट सारा,
झंडा ऊँचा रहे हमारा।

इस झंडे के नीचे निर्भय,
हो स्वराज जनता का निश्चय,
बोलो भारत माता की जय,
स्वतंत्रता ही ध्येय हमारा,
झंडा ऊँचा रहे हमारा।

आओ प्यारे वीरों आओ,
देश-जाति पर बलि-बलि जाओ,
एक साथ सब मिलकर गाओ,
प्यारा भारत देश हमारा,
झंडा ऊँचा रहे हमारा।

इसकी शान न जाने पावे,
चाहे जान भले ही जावे,
विश्व-विजय करके दिखलावे,
तब होवे प्रण-पूर्ण हमारा,
झंडा ऊँचा रहे हमारा।।

Independence day poem in punjabi

ਵਿਜੈ ਵਿਸ਼ਵ ਤਰੰਗਾ ਪਿਆਰਾ,
ਝੰਡਾ ਆਂਚਾ ਹੈ ਪ੍ਰ.

ਸਦਾ ਸ਼ਕਤੀ ਬਰਸਾਨੇ ਵਾਲਾ,
प्रेम सुधा सरसाने ਵਾਲਾ
ਵੀਰਾਂ ਦਾ ਹਰਸ਼ਿਕਾ ਵਾਲਾ
ਜਨਮ ਭੂਮੀ ਦਾ ਤਨ-ਮਨ ਸਾਰਾ,
ਝੰਡਾ ਆਂਚਾ ਹੈ ਪ੍ਰ.

ਸੁਤੰਤਰਤਾ ਬਾਰੇ ਵੀ
ਲਖकर जोश उठे हुए समय में,
ਕਾਉਂਪ ਦੁਸ਼ਮਣ ਵੇਖਣ ਵਾਲੇ ਮਨ ਵਿੱਚ,
ਮਿਟਿਡ ਡਰ ਡਰ ਸੰਕਟ,
ਝੰਡਾ ਆਂਚਾ ਹੈ ਪ੍ਰ.

ਇਹ ਝੰਡ ਹੇਠਾਂ ਨਿਰਭੈ,
ਹੋ स्वਰਾਜ ਜਨ ਕਾ ਨਿਸ਼ੀ,
ਬੋਲੋ ਭਾਰਤ ਮਾਤਾ ਦੀ ਜੈ,
ਸੁਤੰਤਰਤਾ ਹੀ ਮੌਕੇ
ਝੰਡਾ ਆਂਚਾ ਹੈ ਪ੍ਰ.

ਆਓ ਪਿਆਰੇ ਵੀਸਰ ਆਓ,
ਦੇਸ਼-ਕੌਮ ਦੇ ਬਲੀਦਾਨ-ਜਾਉ,
ਸਾਰੇ ਮਿਲਕ ਗਾਓ ਦੇ ਨਾਲ,
ਪਿਆਰਾ ਭਾਰਤ ਦੇਸ਼,
ਝੰਡਾ ਆਂਚਾ ਹੈ ਪ੍ਰ.

यह शां नं पावे,
ਮੁੱਲ ਜਾਣੋ ਭਲੇ ਹੀ ਜਾਵੇ,
ਵਿਸ਼ਵ-ਜਿੱਤ ਵੱਲ ਵੇਖਣ,
तब होवे प्रण-ਪੂਰਨ ਪ੍ਰਧਾਨ,
ਝੰਡਾ ਆਂਚਾ ਰਹੇ

स्वतंत्रता दिवस कविता मराठी

जन-गण-मन की ध्रुव सुने, झंकृत मन वेणा के तार
बधाई आजादीच्या दिवसाची, भारत मातम सजी सोलह सडगे

पहात असताना-जेव्हा लहराता तिरंगा, गमान देशांवर असेल
जन्माचे शूरवीर ने, डोक नमास्तस्त हो

काय मनुष्य माणुस, की मिट्टी के थे वो, क्या उन्हें जीवन से प्यार नहीं था
त्यांच्याशिवाय काही इच्छा नाहीत, त्यांच्या कुटुंबाची गरज नाही

समझा सब कुछ देश को अपनी, जंग जरिए भी जीत गए
दोन शंभर वर्षांची गुलामगिरी छुटोटी, इंग्रजांच्या दिवसांत गेले

त्यांच्या या बलिदानला काय अर्थाविनाही नाही
क्यूं ना तो या कसम उठा, आंच देश वर न आलें

बाळा-बच्चा बनाओ सैनिक, गर बुरी नज़र दुश्मन डाले
हस्ती तिच्या मिलाने खाक मध्ये, कर कधी जो हमला वे

भाईचारावर ठेवा परसपर, अमन चैन का नारा हो
सद्भावना, शांतता दिवा मध्ये, जाति, धर्म का न बंटवारारा हो

बनणे पाउल्स प्रदीती राथ के, सर्वात पुढे जाणे
कर रौशन नाव कुठे आहे, देशांची आपली मान वाढवा

आजादीची वर्षगांध की
खुशहालीची फुले होणें, खुशाब्स ते चमन महकें

आओ आझादी डे मसाज
आओ आझादी डे मसाज

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

Copyright © 2018 Hindiguides.in

To Top