Rainy season essay in english

Rainy season essay | Varsha Ritu Essay in Hindi | वर्षा ऋतु पर निबंध

Posted by

भारत में वर्षा ऋतु जुलाई के महीने में शुरू होती है और सितंबर के अंत तक जारी रहती है। यह एक असहनीय तेज गर्मी के बाद हर किसी के जीवन में एक नई उम्मीद और बड़ी राहत लाता है। मनुष्य सहित पौधे, पेड़, पक्षी, जानवर इस मौसम का बहुत बेसब्री से इंतजार करते हैं और बारिश के मौसम का स्वागत करने के लिए तैयार हो जाते हैं। सभी को राहत और आराम की सांस मिलती है। आकाश बहुत उज्ज्वल, साफ और हल्के नीले रंग का दिखता है और कुछ समय में इंद्र धनुष का अर्थ है सात रंगों का वर्षा धनुष। पूरा वातावरण एक बहुत ही आकर्षक और सुंदर दृश्य प्रस्तुत करता है।

Rainy season essay in hindi

प्रस्तावना

वर्षा ऋतु को सभी ऋतुओं का रानी कहा जाता है। भारत में चार मुख्य ऋतुओं में वर्षा ऋतु एक है। यह हर साल गरमी के मौसम के बाद जुलाई से शुरु होकर सितंबर तक रहता है। जब मानसून आता है तो आकाश के बादल बरसते है । गर्मी के मौसम में तापमान अधिक होने के कारण पानी के संसाधन जैसे महासागर, नदी आदि वाष्प के रुप में बादल बन जाते है। वाष्प आकाश में इकट्ठा होती है और बादल बन जाते है जो वर्षा ऋतु में चलते है जब मानसून बहता है और बादल आपस में घर्षण करते है। इससे बिजली चमकती और गरजती है और फिर बारिश होती है।

वर्षा ऋतु का आगमन

हमारे देश में चार मुख्य ऋतुओं में वर्षा ऋतु एक है। यह ऐसी ऋतु है जो लगभग सभी लोगों की पसंदीदा होती है क्योंकि झुलसा देने वाली गर्मी के बाद ये राहत का एहसास लेकर आती है। वर्षा ऋतु जुलाई से शुरू होती है अर्थात सावन भादों के महीनों में होती है। यह मौसम भारतीय किसानों के लिए बेहद ही हितकारी एवं महत्वपूर्ण है।

कड़कड़ाती गर्मी के बाद जून और जुलाई के महीने में वर्षा ऋतु का आगमन होता है और लोगों को गर्मी से काफी राहत मिलती है। वर्षा ऋतु एक बहुत ही सुहाना ऋतु है। वर्षा ऋतु आते ही लोगों में खासकर के किसानों में खुशियों का संचार हो जाता है। वर्षा ऋतु सिर्फ गर्मी से ही राहत नहीं देता है बल्कि यह खेती के लिए वरदान है। बहुत सारे फसल अच्छी वर्षा पर निर्भर करता है। अगर अच्छी वर्षा नहीं हुई तो ज्यादा उपज नहीं हो पाएगा, जिससे लोगों को सस्ते में अनाज नहीं मिल पाएगा।

वर्षा ऋतु के फायदे और नुकसान

वर्षा ऋतु के अपने फायदे और नुकसान है। बारिश का मौसम सभी को अच्छा लगता है क्योंकि यह सूरज की तपती गर्मी से राहत देता है। यह पर्यावरण से सभी गर्मी को हटा देता है और एक ठंडक एहसास होता है। यह पेड़, पौधे, घास, फसल और सब्जियों आदि को बढ़ने में मदद करता है। यह मौसम सभी जानवरों और पक्षियों को भी बेहद पसंद होता है क्योंकि उन्हें चरने के लिये ढेर सारी घास और पीने के लिये पानी मिल जाता है। और इससे हमें दिन में दो बार गाय और भैंसों का दूध उपलब्ध हो जाता है। सभी प्राकृतिक संसाधन जैसे नदी और तालाब आदि पानी से भर जाते है।

जब बारिश होती है तो सभी सड़कें, उद्यान तथा खेल के मैदान आदि जलमग्न और कीचड़युक्त हो जाते है। इससे हमें रोज खेलने में बाधा उत्पन्न होती है। सूरज की उपयुक्त रोशनी के बिना सब कुछ बदबू करने लगता है। सूरज की रोशनी की कमी की वजह से बड़े स्तर पर संक्रामक बीमारियों (विषाणु, फफूंदी और बैक्टीरिया से होने वाली) के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। वर्षा ऋतु में, भूमि की कीचड़ और संक्रमित वर्षा का पानी धरती के अंदर जाकर पानी के मुख्य स्रोत के साथ में मिलकर पाचन क्रियाओं के तंत्र को बिगाड़ देते है। भारी बारिश के कारण बाढ़ की संभावना भी बनी रहता है।

वर्षा का दृश्य

पृथ्वी को मनोरम और अलौकिक रूप को देखकर बादल भी उसकी ओर आकर्षित होकर प्रेमी नायक की भांति झुकते ही चले आते हैं। और रसमय होकर उसे सरस बना देते हैं।  जैसे ही पृथ्वी पर बूँदें पड़ने लगती है वैसे ही पृथ्वी से अद्भुत भीनी-भीनी सुगंध उठने लगती है। वृक्षों में नया जीवन आ जाता है और वे हरे-भरे हो जाते हैं। पक्षी गण कलरव करने लगते हैं। इस प्रकार वर्षा के आगमन से  वातावरण ही बदल जाता हैं।

निष्कर्ष

आखिरकार सभी के द्वारा वर्षा ऋतु को बहुत पसंद किया जाता है। हर तरफ हरियाली ही दिखाई देती है। पेड़, पौधे और लताओं में नयी पत्तियाँ आ जाती है। फूल खिलना शुरु हो जाते है। हमें आकाश में इन्द्र धनुष देखने का बेहतरीन मौका मिलता है। इस मौसम में सूरज भी लुका-छिपी खेलता है। मोर और दूसरे पक्षी अपने पंखों को फैलाकर झूमने लगते है। हम सभी वर्षा ऋतु का आनन्द स्कूल और घर दोनों जगह लेते है।

Rainy season essay in english

In India rainy season starts in the month of July and continues till end of September. It brings a new hope and big relief in everyone’s life after an unbearable hot summer. Plants, trees, birds, animals, including human beings wait for this season very eagerly and get prepared to welcome the rainy season. Everyone gets a respiration of relief and comfort. Sky looks very bright, clean and light blue colour and sometime gives look of Indra Dhanush means Rain Bow of seven colours. The whole environment presents a very attractive and beautiful scene. I generally, take snaps of the greenery environment and other things to catch all the memories in my camera. White, brown and dark black shades of the clouds look wandering in the sky.

All the trees and plants get covered with new green leaves and lawns and fields gets covered with the great looking green velvet grass. All the natural water resources such as pits, rivers, ponds, lakes, ditches, etc get filled with water. Roads and playgrounds become full of water and muddy clay. Rainy season has lots of advantages and disadvantages. On one hand it gives relief to everyone however on the other hand it brings lots of fear to us of various infectious diseases. It helps farmers in the good cultivation of crops however it spreads various diseases in the environment. Sometimes, it causes too much inconvenience to the skin health. It causes diarrhoea, dysentery, typhoid and other digestive system disorders.

Rainy season essay in marathi

Rainy season essay in hindi

भारतात पावसाळी हंगाम जुलै महिन्यात सुरु होते आणि सप्टेंबरच्या अखेरीपर्यंत सुरू होते. असह्य गरम उन्हाळ्यानंतर प्रत्येकाच्या आयुष्यात नवीन आशा आणि मोठी मदत मिळते. वनस्पती, झाडं, पक्षी, प्राणी, यासह मनुष्यांनी या हंगामासाठी उत्सुकतेने वाट पाहत आहे आणि पावसाळ्यात स्वागत करण्यासाठी तयार आहे. प्रत्येकाला आराम आणि सांत्वनाची श्वास मिळते. स्काय अतिशय तेजस्वी, स्वच्छ आणि निळा निळा दिसत आहे आणि कधीतरी इंद्र धुनशचा अर्थ असा होतो की सात रंगांचा पाऊस बो. संपूर्ण वातावरण एक अतिशय आकर्षक आणि सुंदर दृश्य प्रस्तुत करते. मी सामान्यपणे, माझ्या कॅमेर्यातील सर्व आठवणी लक्षात घेण्यासाठी हिरव्यागार वातावरणाचा आणि इतर गोष्टींचा स्नॅप घेतो. ढगांचा पांढरा, तपकिरी आणि काळा काळा रंग आकाशात भटकताना दिसतो.

सर्व झाडे आणि झाडे नवीन हिरव्या पाने आणि लॉन झाकून घेतात आणि शेतात हिरव्या मखमलीसारख्या हिरव्यागार झाडासह झाकले जाते. पिट्स, नद्या, तलावा, तलाव, शिंपले इत्यादी सर्व नैसर्गिक पाण्याच्या संसाधनांमध्ये पाणी भरले जाते. रस्ते आणि खेळाचे मैदान पाणी आणि गलिच्छ मातीने भरलेले आहेत. पावसाळी हंगामात बरेच फायदे आणि तोटे आहेत. एकीकडे ते प्रत्येकाला मदत देते परंतु दुसरीकडे अनेक संक्रामक आजारांमुळे आम्हाला खूप भीती वाटते. हे शेतक-यांना पिकांच्या चांगल्या लागवडीस मदत करते परंतु ते वातावरणात विविध रोग पसरवतात. कधीकधी, त्वचेच्या आरोग्यास खूप त्रास होतो. यामुळे अतिसार, डासेंटरी, टायफॉइड आणि इतर पाचन तंत्र विकार होतात.

वर्षा ऋतु निबंध

प्रस्तावना

धरती तप रही थी सूर्य आग उगल रहा था। सारे पेड़ पौधे सुख रहे थे। पक्षी-पशु जल बिना बेहाल थे। हर व्यक्ति उत्तेजना से मानसून की प्रतीक्षा कर रहा था। तभी आश्चर्यजनक रूप से मौसम में बदलाव आया। आकाश बदलो से घिर गया, तेज हवा और गड़गड़ाहट के साथ मध्य वर्षा होने लगी। मिट्टी की सौंधी सुगंध सांसों को महकने लगी। पेड़ पौधों में नया जीवन आ गया।

वर्षा ऋतु हम सभी के लिये प्यारा मौसम होता है। सामान्यतः: ये जुलाई के महीने में आता है और सितंबर के महीने में जाता है। ये प्रचण्ड गर्मी के मौसम के बाद आता है। ये धरती पर मौजूद हर जीव-जन्तु के लिये एक उम्मीद और जीवन लेकर आता है जो सूरज की ताप की वजह से खत्म हो जाता है। यह अपने प्राकृतिक और ठंडे बारिश के पानी की वजह से लोगों को बहुत राहत देता है। गर्मी के कारण जो नदी और तालाब सूख जाते वे फिर से बारिश के पानी से भर जाते है इससे जलचरों को नया जीवन मिल जाता है। यह उद्यानों और मैदानों को उनकी हरियाली वापस देती है। वर्षा हमारे पर्यावरण को एक नयी सुंदरता प्रदान करती है हालाँकि ये दुख की बात है कि ये सिर्फ तीन महीनों के लिये रहती है।

सबसे अधिक महत्व किसानों के लिये

आम जन जीवन के अलावा वर्षा ऋतु का सबसे अधिक महत्व किसानों के लिये है क्योंकि खेती के लिये पानी की अत्यधिक आवश्यकता होती है जिससे फसलों को पानी की कमी न हो। सामान्यतः: किसान कई सारे गड्ढे और तालाब बनाकर रखते है जिससे वर्षा के जल का जरूरत के समय उपयोग कर सकें। वास्तव में वर्षा ऋतु किसानों के लिये ईश्वर के द्वारा दिया गया एक वरदान है। बारिश न होने पर वे इन्द्रराज देव से वर्षा के लिये प्रार्थना करते है और अंततः: उन्हें वर्षा का आशीर्वाद मिल जाता है। आसमान में बादल छाये रहते है क्योंकि आकाश में यहाँ और वहाँ काले, सफेद और भूरे बादल भ्रमण करते रहते है। घूमते बादल अपने साथ पानी लिये रहते है और जब मानसून आता है तो बारिश हो जाती है।

वर्षा ऋतु के आने से पर्यावरण की सुंदरता बढ़ जाती है। मुझे हरियाली बेहद पसंद है। वर्षा ऋतु के पलों का आनन्द लेने के लिये मैं सामान्यतः अपने परिवार के साथ बाहर घूमने जाता हूँ। पिछले साल मैं नैनीताल गया था और वह एक अच्छा अनुभव था। कई पानी से भरे बादल कार में हमारे शरीर पर पड़े और कुछ खिड़की से बाहर निकल गये। बारिश बहुत धीमे हो रही थी और हम सभी इसका आनन्द उठा रहे थे। हम लोगों ने नैनीताल में बोटिंग (नौकायन) का भी आनन्द उठाया। हरियाली से भरा नैनीताल बहुत अद्भुत लग रहा था।

निष्कर्ष

ज्यादा बारिश हमेशा खुशियां ही नहीं लाता कभी-कभी जल प्रलय का कारण भी बन जाता है। कई जगह ज्यादा बारिश होने से गांव डूब जाते है और जन-धन की भी हानि होती है। बहुत ज्यादा बारिश के कारण खेते डूब जाते है फसलें भी नष्ट हो जाती और किसानों को बहुत नुकसान भी होता है।

वर्षा ऋतू पर निबंध हिंदी में

प्रस्तावना

वर्षा ऋतु में आकाश में बादल छा जाते हैं, वे गरजते हैं और सुंदर लगते हैं। हरियाली से धरती हरी-हरी मखमल सी लगने लगती है। वृक्षों पर नये पत्ते फिर से निकलने लगते हैं। वृक्ष लताएँ मानो हरियाली के स्तम्भ लगते हैं। खेत फूले नहीं समाते, वास्तव में वर्षा ऋतु किसानों के लिये ईश्वर के द्वारा दिया गया एक वरदान है। वर्षा ऋतु में जीव जन्तु भी बढ़ने लगते हैं। ये हर एक के लिये शुभ मौसम होता है और सभी इसमें खुशी के साथ ढेर सारी मस्ती करते है।

वर्षा ऋतु में इंद्रधनुष

भारत में वर्षा ऋतु जुलाई महीने में शुरु हो जाती है और सितंबर के आखिर तक रहता है। ये असहनीय गर्मी के बाद सभी के जीवन में उम्मीद और राहत की फुहार लेकर आता है। इंसानों के साथ ही पेड़, पौधे, चिड़ियाँ और जानवर सभी उत्सुकता के साथ इसका इंतजार करते है और इसके स्वागत के लिये ढेर सारी तैयारियाँ करते है। इस मौसम में सभी को राहत की साँस और सुकून मिलता है।

आकाश बहुत चमकदार, साफ और हल्के नीले रंग का दिखाई पड़ता है और कई बार तो सात रंगों वाला इन्द्रधनुष भी दिखाई देता है। पूरा वातावरण सुंदर और आकर्षक दिखाई देता है। सामान्यतः मैं हरे-भरे पर्यावरण और दूसरी चीजों की तस्वीर लेता हूँ जिससे ये मेरे कैमरे में यादों की तरह रहे। आकाश में सफेद, भूरा और गहरा काला बादल भ्रमण करता दिखाई देता है।

इस मौसम में हम सभी पके हुये आम का लुत्फ़ उठाते है। वर्षा से फसलों के लिए पानी मिलता है तथा सूखे हुए कुएं, तालाबों तथा नदियों को फिर से भरने का कार्य वर्षा के द्वारा ही किया जाता है। इसीलिए कहा जाता है कि जल ही जीवन है।

संक्रामक बीमारियों के फैलने का डर

सभी पेड़ और पौधे नयी हरी पत्तियों से भर जाते है तथा उद्यान और मैदान सुंदर दिखाई देने वाले हरे मखमल की घासों से ढक जाते है। जल के सभी प्राकृतिक स्रोत जैसे नदियॉ, तालें, तालाबें, गड्ढें आदि पानी से भर जाता है। सड़कें और खेल का मैदान भी पानी से भर जाता है और मिट्टी कीचड़युक्त हो जाती है। वर्षा ऋतु के ढेर सारे फायदे और नुकसान है।

एक तरफ ये लोगों को गरमी से राहत देती तो दूसरी तरफ इसमें कई सारी संक्रामक बीमारियों के फैलने का डर बना रहता है। यह किसानों के लिये फसलों के लिहाज से बहुत फायदेमंद रहता है लेकिन यह कई सारी संक्रमित बीमारियों को भी फैलाता है। इससे शरीर की त्वचा को काफी असुविधा होती है। इसके कारण डायरिया, पेचिश, टाईफॉइड और पाचन से संबंधित परेशानियाँ सामने आती है।

निष्कर्ष

वर्षा ऋतु में रोगों के संक्रमण की संभावना अधिक हो जाती है और लोग अधिक बीमार पड़ने लगते है। इसलिए इस ऋतु में लोगों को सावधानी से रहना चाहिए और बारिश का मजा लेना चाहिए और जहां तक हो सके बारिश के पानी को संचित करने का उपाय ढूँढना चाहिए।

Rainy season essay in gujarati

ભારતમાં વરસાદની મોસમ જુલાઇ મહિનામાં શરૂ થાય છે અને સપ્ટેમ્બરના અંત સુધી ચાલુ રહે છે. તે અસહ્ય ગરમ ઉનાળા પછી દરેકના જીવનમાં નવી આશા અને મોટી રાહત લાવે છે. છોડ, વૃક્ષો, પક્ષીઓ, પ્રાણીઓ, મનુષ્યો સહિત, આ મોસમની આતુરતાથી રાહ જુએ છે અને વરસાદી મોસમનું સ્વાગત કરવા તૈયાર થાય છે. દરેકને રાહત અને આરામની શ્વસન મળે છે. સ્કાય ખૂબ જ તેજસ્વી, સ્વચ્છ અને વાદળી વાદળી રંગ લાગે છે અને કેટલીક વખત ઇન્દ્ર ધનુષનો અર્થ એ છે કે સાત રંગોનો વરસાદનો બોવ. આખું વાતાવરણ ખૂબ આકર્ષક અને સુંદર દ્રશ્ય રજૂ કરે છે. હું સામાન્ય રીતે, મારા કૅમેરામાં બધી યાદોને પકડવા માટે હરિયાળી વાતાવરણ અને અન્ય વસ્તુઓની ઝાંખી કરું છું. વાદળોના સફેદ, ભૂરા અને ઘેરા કાળા રંગોમાં આકાશમાં ભટકતા દેખાય છે.

બધા વૃક્ષો અને છોડ નવા લીલા પાંદડાઓ અને લૉનથી ઢંકાયેલો છે અને ખેતરો મહાન દેખાતા લીલા મખમલ ઘાસથી ઢંકાયેલો છે. બધા કુદરતી જળ સંસાધનો જેમ કે ખાડાઓ, નદીઓ, તળાવો, તળાવો, ડચ, વગેરે પાણીથી ભરાય છે. રસ્તાઓ અને રમતનું મેદાન પાણી અને ગંદકી માટીથી ભરેલું છે. વરસાદી મોસમમાં ઘણાં ફાયદા અને ગેરફાયદા છે. એક તરફ તે દરેકને રાહત આપે છે, તેમ છતાં બીજી બાજુ તે વિવિધ ચેપી રોગોથી અમને ડર લાવે છે. તે ખેડૂતોને પાકની સારી ખેતીમાં મદદ કરે છે જોકે તે પર્યાવરણમાં વિવિધ રોગો ફેલાવે છે. કેટલીકવાર, તે ત્વચા સ્વાસ્થ્ય માટે ખૂબ અગવડનું કારણ બને છે. તે ઝાડા, માદક દ્રવ્ય, ટાઇફોઇડ અને અન્ય પાચક સિસ્ટમ વિકૃતિઓનું કારણ બને છે.

Varsha ritu in sanskrit

ऊपर हमने आपको the rainy season essay, rainy season essays, in english for class 5, for class 1, for class 10, in english for class 9, class 1, class 5, for class 1, essay in odia, for class 3, for kid, in english for class 8, malayalam, in bengali, का महत्व, निबंध मराठी, in marathi essay, gujarati language, के फल, in hindi information, language, निबंध marathi, का आगमन, आदि की जानकारी दी है जिसे आप किसी भी भाषा जैसे Hindi, Urdu, उर्दू, English, sanskrit, Tamil, Telugu, Marathi, Punjabi, Gujarati, Malayalam, Nepali, Kannada के Language Font , 100 words, 150 words, 200 words, 400 words में साल 2007, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 का full collection whatsapp, facebook (fb) व instagram पर share कर सकते हैं|

वर्षा ऋतु पर निबंध संस्कृत में: वसन्तः रमणीयः ऋतुः अस्ति । इदानीं शीतकालस्य भीषणा शीतलता न भवति । मन्दं मन्दं वायुः चलती । विहंगाः कूजन्ति । विविधैः कुसुमैः वृक्षाः आच्छादिताः भवन्ति । कुसुमेषु भ्रमराः गुज्जन्ति । धान्येन धरणी परिपूर्णा भवति । कृषकाः प्रसन्नाः दृश्यन्ते । कोकिलाः मधुरं गायन्ति । आम्रेषु मज्जर्यः दृश्यन्ते । मज्जरीभ्यः मधु स्रवति ।

हिन्दी अनुवाद :

वसन्त एक सुन्दर ऋतु है । इस समय शीत काल की तरह भीषण ठंडा नहीं रहता है । धीरे-धीरे हवा वहती है । पनी गाते है । विभिन्न प्रकार के फूलों से वृक्ष भर जाते हैं । फूलों पर भौरा गुंजते हैं । पृथ्वी धान से भर जाता है । किसान प्रशन्न रहते हैं । कोयल मधुर गाते है । आमों में मंजर देखे जाते है । मजरों से मधु तैयार होता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *